भारत के राष्ट्रीय प्रतीक | National Symbols of India

National Symbols of India यानि भारत के राष्ट्रीय प्रतीक अपने देश के स्वतंत्र अस्तित्व के द्योतक हैं, ये इस देश की विश्व में पहचान दिलाते हैं I ये अपने देश की सभ्यता एवं संस्कृति को विश्व भर में प्रतिबिंबित करते हैं I

National Symbols किसी भी देश के लिए इतने महत्वपूर्ण होते हैं कि इनके सम्मान में उस देश के नागरिक अपना बलिदान तक देने को हमेशा तैयार रहते हैं I

इसी तरह हमारे देश के भी कुछ राष्ट्रीय प्रतीक हैं जो विश्व में हमारी पहचान दिलाते हैं I ये हमारी सभ्यता एवं संस्कृति के भी पहचान हैं I

आईये देखते हैं हमारे देश के राष्ट्रीय प्रतीक कौन-कौन से हैं I

CONTENTS Show

National Symbols of India और उनका महत्व:

National Symbols of India : तिरंगा

national symbols of india
तिरंगा

National Symbols of India में राष्ट्रीय ध्वज ‘तिरंगा’ सबसे महत्वपूर्ण सिम्बल है। इसमें तीन रंगों केसरिया, सफेद और हरे रंग की तीन क्षैतिज पट्टियाँ लगी हुई हैं। 

भारतीय संविधान सभा ने राष्ट्रीय ध्वज को 22 जुलाई, 1947 को अपनाया I 

ध्वज की लंबाई और चौड़ाई का अनुपात 3:2 है। सफेद रंग की पट्टी के बीचों-बीच एक चक्र बना हुआ है जिसमें 24 तीलियाँ हैं। 

इसका प्रारूप सारनाथ में अशोक के सिंह स्तंभ पर बने चक्र से लिया गया है।

राष्‍ट्रीय ध्‍वज की ऊपरी पट्टी में केसरिया रंग है जो देश की शक्ति और साहस को दर्शाता है। बीच में स्थित सफेद पट्टी धर्म चक्र के साथ शांति और सत्‍य का प्रतीक है। निचली पट्टी का हरा रंग उर्वरता, वृद्धि और भूमि की पवित्रता को दर्शाता है।

श्री पिंगली वेंकैया ने राष्ट्रीय ध्वज का प्रारूप तैयार किया था। श्री पिंगली आन्ध्र प्रदेश के कृष्णाजिले के रहने वाले थे I इनके सम्मान में भारत सरकार ने उनके नाम पर डाक टिकट भी जारी किया था।

Image

National Symbols of India : अशोक स्तंभ

यह सारनाथ स्थित अशोक स्तंभ के शीर्ष पर बने सिंह की अनुकृति है। 

national symbols of india
National Symbols of India

भारत सरकार ने यह चिन्ह 26 जनवरी, 1950 को अपनाया था I 

स्तंभ के शीर्ष पर चार सिंह बने हुए हैं जिनका पिछला हिस्सा एक दूसरे से जुड़ा हुआ है । इनके ठीक नीचे चार चक्र बने हुए हैं और प्रत्येक दो चक्रों के बीच में एक हाथी, चौकड़ी भरता हुआ एक घोड़ा, एक सांड (Bull) तथा एक सिंह की आकृति बनी हुई है। 

इन आकृतियों के ठीक नीचे देवनागरी लिपि में  ‘सत्यमेंव जयते’ लिखा हुआ है जिसे मुण्डकोपनिषद से लिया गया है।

National Symbols of India : जन-गण-मन

रवींद्र नाथ टैगोर द्वारा लिखित ‘जन-गण-मन’ भारत का राष्ट्रीय गान है जिसे संविधान सभा द्वारा 24 जनवरी 1950 को आधिकारिक रूप से अपनाया गया। 

national symbols of india
भारत का राष्ट्रीय गान

इसे पहली बार 27 दिसंबर 1911 में भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस के कलकत्ता अधिवेशन में हिन्दी और बंगाली दोनों भाषाओं में  गाया गया था। 

मूल रूप से लिखित गान में 5 पद हैं जिसका पहला पद राष्ट्र- गान के रूप में  गाया जाता है। इसके गाने की अवधि 52 सेकंड है। परंतु कुछ अवसरों पर इसके पहले और अंतिम पंक्तियों को गाया जाता है जिसे गाने में  20 सेकंड लगते हैं। 

रविन्द्रनाथ टैगोर द्वारा राष्ट्र गान का बंगाली से अंग्रेजी में अनुवाद किया गया और आंध्र प्रदेश के मदनपल्लै में इसका संगीत दिया गया।

National Symbols of India – राष्ट्रगीत: वंदे मातरम्

राष्ट्रगीत ‘ वंदे मातरम् ’ को आधिकारिक रुप से 24 जनवरी 1950  को अपनाया गया।

national symbols of india
भारत का राष्ट्रगीत

इसे बंकिमचन्द्र चटोपाध्याय द्वारा 1982 में  लिखित उपन्यास आनन्दमठ से लिया गया है।

वास्तविक वन्दे मातरम् में छ: छंद हैं जिसके शुरुआत के दो छंदों को आधिकारिक रुप से भारत के राष्ट्रगीत के रुप में अंगीकृत किया गया I शुरुआत के दो छंद संस्कृत में हैं और उसके बाद के छंद बंगाली में हैं। 

इस गीत को चिनसुरा ( पश्चिमी बंगाल ) में लिखा गया था I इसे पहली बार सन 1896 में भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस के कलकत्ता अधिवेशन में राजनीतिक संदर्भ में रविन्द्रनाथ टैगोर द्वारा गाया गया था। 

डॉ. नरेशचन्द्र सेनगुप्त ने 1906 में आनन्दमठ उपन्यास का Abbey of Bliss नाम से अंग्रेजी में अनुवाद किया। अरविन्द घोष ने 1909 में  ‘ वन्दे मातरम् ‘ का अंग्रेजी गद्य और पद्य में अनुवाद किया और आरिफ़ मोहम्मद ख़ान इसका उर्दू में अनुवाद किया।

वंदे मातरम् की धुन यदुनाथ भट्टाचार्य ने बनायी थी। इस गीत को गाने में कुल 65 सेकेंड का समय लगता है।

National Symbols of India – राष्ट्रीय कैलेंडर : पचांग

भारत के राष्ट्रीय पंचाग को  22 मार्च, 1957 को अपनाया गया । यह शक संवत पर आधारित है। इसका प्रथम माह चैत्र होता है। 

इस पंचांग के 12 महीनों के नाम इस प्रकार हैं – 

1. चैत्र                2. वैशाख       

3. ज्येष्ठ              4. आषाढ़    

5. श्रावण            6. भाद्रपद   

7. अश्विन            8. कार्तिक     

9. अग्रहायण      10. पौष       

11. माघ            12. फाल्गुन

National Symbols of India – राष्ट्रीय पक्षी: मोर

भारत का राष्ट्रीय पक्षी मोर है। भारतीय वन्यजीव (सुरक्षा) अधिनियम की धारा 1972 के तहत इसे संसदीय आदेश पर सुरक्षा प्रदान की गयी है I 

हिन्दू धर्म में इसे भगवान मुरुगन  का वाहन माना जाता है जबकि ईसाईयों के लिये यह “ पुनर्जागरण ” का प्रतीक है I इसका वैज्ञानिक नाम पावो क्रिस्टेटस (Pavo cristatus) है।

National Symbols of India – राष्ट्रीय पशु: बाघ

भारत का राष्ट्रीय पशु बाघ या रॉयल बंगाल टाइगर है । यह उत्‍तर – पूर्वी क्षेत्रों को छोड़कर देश भर में पाया जाता है। 

बाघों की सुरक्षा और उनको बचाने के लिये भारत सरकार ने अप्रैल 1973 में “ प्रोजेक्ट टाईगर ” की शुरुआत की थी। इस प्रोजेक्ट के तहत अब तक देश भर में  50 बाघ अभ्यारण बनाए जा चुके हैं। 

बाघ का जन्तु वैज्ञानिक नाम पैन्थरा टाईग्रिस ( Panthera tigris ) है I 

National Symbols of India – राष्ट्रीय फूल: कमल

भारत का राष्ट्रीय फूल कमल है । इसका वैज्ञानिक नाम नील्यूम्बो न्यूसीफेरा (Nelumbo nucifera ) है I 

National Symbols of India – राष्ट्रीय फल: आम

भारत का राष्ट्रीय फल आम है । इसका वैज्ञानिक नाम मैनजीफेरा इंडिका (Mangifera indica) है I 

National Symbols of India – राष्ट्रीय खेल: हॉकी

भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी है। 

1928 से 1956 के बीच भारतीय हॉकी टीम ने लगातार 6 ओलंपिक स्वर्ण पदक जीते। इस उपलब्धि को देखते हुए हॉकी को राष्ट्रीय खेल का दर्जा दे दिया गया। 

भारत को टोकियो ओलम्पिक (1964) और मॉस्को ओलम्पिक (1980) खेलों में  भी स्वर्ण पदक प्राप्त हुए।

National Symbols of India – राष्ट्रीय वृक्ष: बरगद

भारत का राष्ट्रीय वृक्ष बरगद का पेड़ है। इसका वानस्पतिक नाम फिकस बेंगालेंसिस ( Ficus benghalensis ) है।

National Symbols of India – राष्ट्रीय जलचर: गंगा डॉल्फिन

भारत का राष्ट्रीय जलचर गंगा डॉल्फिन है I इसका प्राणी शास्त्र से संबंधित नाम प्लैटानिस्ता गैंगेटिका ( Platanista gangetica ) है।

National Symbols of India – राष्ट्रीय नदी: गंगा

भारत की राष्ट्रीय नदी गंगा है । यह भारत की सबसे लम्बी नदी है जिसकी लंबाई 2510 कि.मी. है।

National Symbols of India – राष्ट्रीय मुद्रा: भारतीय रुपया

भारत गणराज्य की आधिकारिक मुद्रा भारतीय रुपया (ISO code: INR) है I 

भारतीय रुपये को “₹” प्रतीक से चिन्हित किया गया है I यह देवनागरी लिपि के अक्षर ‘र’ और रोमन अक्षर ‘R’ को मिलाकर बनाया गया है I

इस चिन्ह को तमिलनाडु के डी. उदय कुमार ने डिजाइन किया है जिसे भारत सरकार ने 15 जुलाई 2010 को सार्वजनिक किया था। 8 जुलाई 2011 को रुपये के इस चिन्ह के साथ भारत में सिक्कों की शुरुआत की गयी I 

अब अमेरिकी डॉलर, ब्रिटिश पाउण्ड, जापानी येन और यूरोपीय संघ के यूरो के बाद अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारतीय मुद्रा ऐसी पांचवी मुद्रा है जिसे प्रतीक रूप में जाना जाता है।

राष्ट्रीय लिपि या आधिकारिक लिपि: देवनागरी

अनुच्छेद 343 (1) के अनुसार भारत की राष्ट्रीय लिपि देवनागरी है ।

नोट- भारतीय संविधान के अनुच्छेद 343 के अनुसार हिन्दी भारत की राजभाषा है ना कि राष्ट्रभाषा I राष्ट्रभाषा का भारतीय संविधान में कोई उल्लेख नहीं है I राजभाषा उस भाषा को कहते हैं जिसमें सरकारी कार्य किए जाते हैं I

भारतीय संविधान के अंतर्गत  कुल  22  भाषाओं को आधिकारिक भाषा का दर्जा दिया गया है I 

राष्ट्रीय प्रतिज्ञा:

राष्ट्रीय प्रतिज्ञा को सन् 1962 में प्यिदीमर्री वेंकट सुब्बाराव द्वारा तेलुगू भाषा में लिखा गया गया था।

इसका पहला सार्वजनिक पठन सन् 1963 में विशाखापत्तनम के एक विद्यालय में हुआ था। बाद में इसका अनुवाद भारत की अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में किया गया। 

राष्ट्रीय प्रतिज्ञा इस प्रकार है –  

भारत हमारा देश है। हम सब भारतवासी भाई-बहन हैं। हमें अपना देश प्राणों से भी प्यारा है। इसकी समृद्ध एवं विविध संस्कृति पर हमें गर्व है। हम सदा इसके सुयोग्य अधिकारी बनने का प्रयत्न करते रहेंगे। हम अपने माता-पिता, शिक्षकों एवं गुरुजनों का सदा सम्मान करेंगे और प्रत्येक के साथ विनीत रहेंगे। हम अपने देश और देशवासियों के प्रति सत्यनिष्ठ रहने की प्रतिज्ञा करते हैं । इनके कल्याण एवं समृद्धि में ही हमारा सुख निहित है।

राष्ट्रीय दिवस:

भारत के तीन राष्ट्रीय दिवस हैं- 

  1. 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस)
  2. 26 जनवरी (गणतंत्र दिवस)
  3. 2 अक्टूबर ( गाँधी जयंती )

निष्कर्ष:

भारत के National Symbols हमारे देश के लिए आन-बान-शान हैं। इनकी रक्षा करना और सम्मान देना अपने देश के प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य है।

उपरोक्त लेख में हमने बताया है कि हमारे देश के Natinal Symbols कौन-कौन से हैं। इनकी उत्पत्ति कैसे हुई और इन्हें कब अपनाया गया।

आज का यह लेख कैसा लगा, कमेंट करके जरुर बताएं और कृपया शेयर करना ना भूलें।

Leave a Comment