Nikhat Zareen-Women World Boxing Champion | Nikhat Zareen का संक्षिप्त जीवन परिचय    

Nikhat Zareen-Women World Boxing Champion: Nikhat Zareen ने जीता महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप।

Nikhat Zareen-Women World Boxing Champion

भारतीय महिला मुक्केबाज Nikhat Zareen ने इस्तांबुल में हुए महिला विश्व चैंपियनशिप का मुकाबला जीत लिया है। Nikhat Zareen ने 52 किग्रा भारवर्ग (फ्लाइवेट) के फाइनल मुकाबले में थाईलैंड की जितपोंग जुतामास (Jitpong Jutamas) को एकतरफा 5-0 से हराकर विश्व चैंपियन का यह खिताब जीता है।

यह मुकाबला गुरुवार यानि 19 मई 2022 को हुआ था। निकहत ने पहले दौर में दबदबा बनाए रखा लेकिन दूसरे दौर में वो जितपोंग जुतामास से 3-2 से हार गईं। फाइनल राउंड में निकहत ने प्रतिद्वंद्वी पर बुरी तरह से मुक्के बरसाए और फैसला निकहत के पक्ष में सर्वसम्मति से आया।

इससे पहले सेमीफाइनल में Nikhat Zareen ने ब्राजील की कैरोलिन डी अल्मेडा को 5-0 से हराया था। यह खिताब जीतने के साथ ही Nikhat Zareen विश्व चैंपियन बनने वाली पांचवीं भारतीय महिला मुक्केबाज बन गई हैं।

World Boxing Championship में भारत का प्रदर्शन:

इस World Boxing Championship में भारत की ओर से 12 सदस्यीय टीम ने हिस्सा लिया था। इनमें से मनीषा मौन (57 किग्रा भारवर्ग) और प्रवीण हुड्डा (63 किग्रा भारवर्ग) ने कांस्य पदक अपने नाम किया।

इससे पहले 2019 में रूस में आयोजित इस Championship के पिछले संस्करण में भारतीय मुक्केबाजों ने एक रजत और तीन कांस्य पदक जीते थे। इस तरह भारत ने इस टूर्नामेंट के अब तक सम्पन्न हुए 11 संस्करणों में नौ स्वर्ण, आठ रजत और 19 कांस्य सहित 36 पदक जीते हैं।

इस मामले में रूस (60 पदक) और चीन (50 पदक) ही आगे है।

भारत ने इस मुकाबले में चार वर्ष के बाद स्वर्ण पदक हासिल किया है। इससे पहले साल 2018 में एम. सी. मैरीकॉम ने स्वर्ण पदक जीता था।

इसी साल फरवरी में निकहत Strandja Memorial Boxing Tournament में स्वर्ण पदक जीता था और वह ऐसा करने वालीं पहली भारतीय महिला मुक्केबाज बनी थीं।

इनसे पहले महिला मुक्केबाजी विश्व चैंपियनशिप का खिताब जीतने वाली भारतीय मुक्केबाज हैं-एम. सी. मैरीकॉम- इन्होनें यह खिताब छह बार (2002, 2005, 2006, 2008, 2010 और 2018) जीता है, सरिता देवी (2006), जेनी आरएल (2006) और लेखा केसी।  

Nikhat Zareen कौन हैं

Nikhat Zareen तेलंगाना के निजामाबाद की रहने वाली हैं। इनका जन्म 14 जून 1996 को हुआ था।  Nikhat Zareen के पिता का नाम मुहम्मद जमील अहमद और माता का नाम परवीन सुल्ताना है।

निकहत जरीन ने 13 साल की उम्र से ही बाक्सिंग का अभ्यास शुरू कर दिया था। ये भारत की सर्वश्रेष्ठ महिला मुक्केबाज एम. सी. मैरीकॉम को अपना आदर्श मानती हैं।

Nikhat Zareen ने अपने करियर का पहला पदक वर्ष 2010 में जीता था। इन्होंने यह पदक नेशनल सब जूनियर मीट में जीता था। निकहत ने तुर्की में साल 2011 महिला जूनियर एवं यूथ वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप के फ्लाइवेट में स्वर्ण पदक जीता था और साल 2019 में बैंकाक में आयोजित थाइलैंड ओपन इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में रजत पदक जीत था।

Leave a Comment

International Yoga Day 2022 : थीम, इसका इतिहास और महत्व Agneepath Yojana 2022- सेना में होगी अग्निवीरों की भर्ती Sologamy (सोलोगैमी) – Kshama Bindu ने अपनाया Sologamy Jan Samarth Portal लॉन्च किया गया