Calculate Salary of a Government Employee as per 7th CPC in Hindi

Calculate Salary of a Government Employee : अक्सर Government Job की तैयारी करने वाले छात्रों को यह जानने की उत्सुकता रहती है कि किसी Government Post के लिए salary kaise calculate kare.

अर्थात किसी सरकारी पद पर रहते हुए उन्हें कितनी Salary मिलेगी।

वैसे तो जिस परीक्षा के लिए Notification आता है उसी में ही पद के अनुसार Pay Scales के बारे में बता दिया जाता है।

जब से 7th Pay Commission लगा है तब से सरकारी परीक्षा से संबंधित Notification में Pay Band की जगह Pay Matrix के अनुसार Basic Pay के बारे में जानकारी दी जाती है।

यह भी पढ़ें:
केंद्र सरकार के कर्मचारियों को कौन-कौन से Allowances मिलते हैं?

इन्हें मिलने वाला महंगाई भत्ता यानि Dearness Allowance क्या होता है?

जैसे- SSC CGL Exam के लिए notification आता है तो उसमें Pay Scales कुछ इस तरह दिया रहता है-

Pay Level-8 – Rs.47600 to 151100

Pay Level-7 – Rs.44900 to 142400

Pay Level-6 – Rs.35400 to 112400

Pay Level-5 – Rs.29200 to 92300

Pay Level-4 – Rs.25500 to 81100

ऊपर दिए गए Pay Level को देखकर कई छात्र ये नहीं समझ पाते कि Pay Level के अनुसार उनकी सैलरी कैसे calculate की जाएगी।  

इस लेख में हम किसी एक Pay Level को उदाहरण के तौर पर लेकर सैलरी कैलकुलेट करना बताएंगे। वैसे तो आजकल online government job salary calculator उपलब्ध हैं। लेकिन हम यहाँ विस्तार से इसके बारे में बताएंगे। यदि आप इसके बारे में जानते हैं और केवल salary calculate करना चाहते हैं तो इन govt job salary calculator की सहायता ले सकते हैं।

तो आईए जानते हैं कि सातवें वेतन आयोग यानि 7th Pay Commission के Pay Matrix के अनुसार किसी सरकारी कर्मचारी की सैलरी कैसे कैलकुलेट होती है ( How to Calculate Salary of a Government Employee as per 7th CPC)

Calculate Salary of a Government Employee as per 7th CPC

Calculate Salary of a Government Employee as per 7th CPC in Hindi
Calculate Salary of a Government Employee as per 7th CPC in Hindi

सैलरी कैलकुलेट करने से पहले यह जानना जरूरी है कि Pay Level है क्या और यह कहाँ से आता है?

Pay Level क्या होता है? (what is Pay Level)

केंद्र सरकार ने 2016 में जब 7th Pay Commission लागू किया था तो pay matrix को introduce किया था।

इस Pay Matrix के अनुसार ही Pay Level तय किए जाते हैं। Pay Level ने पहले से चले आ रहे Grade Pay का स्थान लिया था।

इसलिए Pay Matrix में Pay Level तय करने के लिए Grade Pay को आधार बनाया गया है। जैसा कि नीचे चित्र में दिखाया गया है

Calculate Salary of a Government Employee as per 7th CPC in Hindi
7th CPC Pay Matrix

ऊपर दिए गए चित्र के अनुसार Pay Matrix में 18 Pay Level हैं और ये सभी Pay Level ग्रेड पे के अनुसार रखे गए हैं।

जैसे कि 1800 Grade Pay पहले Pay Level में है, 1900 Grade Pay दूसरे Pay Level में है और इसी तरह जैसे-जैसे Grade Pay बढ़ रहा है Pay Level  भी बढ़ता जा रहा है।

तो अब आप समझ गए होंगे कि Pay Level क्या है।

अब हम इसी Pay Level के आधार पर Salary Calculate करना बताएंगे।

Pay Level के आधार पर Salary कैसे Calculate करते हैं?

Salary Calculate करने के लिए हमें सबसे पहले किसी Pay Level को उदाहरण के लिए लेना होगा।

Pay Level के लिए हम पहले Grade Pay को चुनते हैं। हम यहाँ Salary Calculate करने के लिए 4600 Grade Pay को उदाहरण के तौर पर लेंगे।

Salary Calculate करने के लिए इसको हम पहले दो भागों में बांटते हैं – पहला है Gross Salary और दूसरा है Deductions.

Government Employee को जो Salary मिलती है उसे Net Salary कहते हैं। इसे हम बोलचाल की भाषा में in hand Salary भी कहते हैं।

Gross Salary में से जब Deductions को घटा देते हैं तो नेट Salary प्राप्त होती है अर्थात Net Salary = Gross Salary – Deductions

अब ये Gross Salary क्या है और Deductions क्या हैं, आईए अब हम इसके बारे में जानकारी लेते हैं।

Gross Salary

इसके अंतर्गत मुख्य रूप से चार तरह के Pay और Allowances होते हैं-

1. Basic Pay     2. HRA       3. DA      4. TA

अब इनके बारे में एक-एक करके जानकारी लेते हैं।

Basic Pay

इसके लिए हम Pay Matrix का अवलोकन करते हैं।

चूंकि हम यहाँ 4600 Grade Pay को उदाहरण के तौर पर लेकर चल रहे हैं। इसलिए हम Pay Matrix में 4600 Grade Pay का Pay Level देखते हैं। Pay Matrix के अनुसार 4600 Grade Pay का Pay Level 7 है।

अब हम Pay Level 7 के First Cell का Basic Pay देखेंगे जो 44900 है। इस तरह हम देखते हैं कि जिसका selection 4600 Grade Pay पद के लिए होता है उसका Basic Pay Rs.44900/- होगा।  

Pay Matrix के अवलोकन से यह भी पता चलता है कि यह Basic Pay 44900 से 142400 तक है। इसका मतलब है कि हर साल Increment लगते-लगते Basic Pay 44900 से 142400 तक पहुँच जाता है।

वैसे यह असंभव है कि किसी कर्मचारी का Basic Pay 44900 से 142400 तक जाएगा। क्योंकि उसका promotion वहाँ तक पहुँचने से पहले ही हो जाएगा और वह अगले Pay Level यानि 8 में पहुँच जाएगा।

Home Rent Allowance (HRA)

HRA का Full Form होता है- Home Rent Allowance ।

इसके लिए दो स्थितियाँ हैं। पहला कि यदि आप Government Quarters में रहते हो तो आपकी Salary में HRA नहीं जुड़ेगा। यानि Gross Salary calculate करते वक्त HRA नहीं जोड़ा जाएगा।

दूसरी स्थिति है कि आप Government Quarters में नहीं रह रहे हैं यानि आपने इसे occupy नहीं किया है तो आपके Gross Salary में HRA जोड़ दिया जाएगा।

यदि आप Government Quarters में नहीं रहते हैं तो आपको HRA कितना मिलेगा यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपका Office किस श्रेणी के शहर में स्थित है।

जैसा कि ज्ञात है कि HRA के आधार पर केंद्र सरकार ने भारतीय शहरों को तीन श्रेणियों में बाँट रखा है- X, Y और Z

7th Pay Commission के अनुसार X श्रेणी के शहर में HRA Basic Pay का 24% है। Y श्रेणी के शहर में 16% और Z श्रेणी में 8% है।

हम HRA के बारे में विस्तृत जानकारी किसी और लेख में देंगे।

फिलहाल हम उदाहरण के तौर पर मान कर चलते हैं कि आपका office y श्रेणी के शहर में स्थित है तो आपको HRA Basic Pay का 16% मिलेगा। हमने पहले ही Basic Pay 44900/- ज्ञात कर रखा है इसलिए HRA होगा- 44900 का 16% यानि Rs.7184/-

इस तरह हमें दो चीजें पता चल गईं- Basic Pay और HRA

अब तीसरा है DA. तो आईए अब DA का calculation करते हैं।

Dearness Allowance (DA)

DA का Full Form होता है – Dearness Allowance यानि कि महंगाई भत्ता। स्पष्ट है कि यह महंगाई बढ़ने के एवज में सरकार की तरफ से दिया जाता है।

वैसे तो केंद्र सरकार इसकी घोषणा हर साल दो बार करती है लेकिन विशेष परिस्थितियों में केंद्र सरकार DA में वृद्धि को रोक भी सकती है। जैसा कि अभी Corona संकट की वजह से रुक हुआ है।

फिलहाल हम DA का calculation करते हैं।

वर्तमान में DA का रेट 17% है। तो हमारा DA होगा Basic Pay का 17% यानि कि 44900 का 17% = Rs.7633/-

यह सभी Government Employee के लिए एक समान होता है चाहे उसका office किसी भी शहर में स्थित हो।

अब बारी आती है TA के calculation की।

Transport Allowance (TA)

इसका Full form होता है- Transport Allowance । नाम से ही स्पष्ट है कि यह Government Employee को transportation के खर्चे के एवज में दिया जाता है।

इसका Calculation थोड़ा सा tricky है। इसके लिए दो बातों का ध्यान रखना पड़ता है। पहला Employee का Pay Level क्या है और दूसरा कि वह किस Category के शहर में posted है। नीचे दिए गए Table से यह और भी स्पष्ट हो जाता है।

Employee का Pay Level19 ऐसे शहर जहां TA Rate ज्यादा है19 शहरों को छोड़कर अन्य शहर जहां TA Rate कम है
9 और उससे अधिक7200 + 7200 का वर्तमान DA3600 + 3600 का वर्तमान DA
3 से 83600 + 3600 का वर्तमान DA1800 + 1800 का वर्तमान DA
1 से 21350 + 1350 का वर्तमान DA900 + 900 का वर्तमान DA
Pay Level और शहरों के आधार पर TA


हम यहाँ Basic Pay 44900 को उदाहरण के तौर पर लेकर चल रहें हैं जिसका Pay Level 7 है और यह भी मानकर चल रहे हैं कि वह Employee 19 उच्च TA Rates वाले शहर को छोड़कर किसी अन्य शहर में Posted है तो उसके TA का calculation निम्नलिखित तरीके से किया जाएगा-

1800 + 1800 का वर्तमान DA

वर्तमान में DA Rate 17% है। तो TA होगा- 1800+1800 का 17%= 2106/-

इस तरह हमारा TA प्राप्त हो गया 2106 रुपये।

अब हम Gross salary का Calculation कर सकते हैं।

Gross Salary = Basic Pay + HRA + DA + TA

उपरोक्त उदाहरण से हमें ये चारों चीजें मिल चुकी हैं।

Basic Pay = 44900

HRA = 7184

DA = 7633

TA = 2106

तो अब Gross Salary होगी-

Gross Salary = 44900 + 7184 + 7633 + 2106 = Rs.61823/-  

यदि वह Employee Government Quarters में रह रहा है तो उसे HRA नहीं मिलेगा और तब उसकी Gross Salary होगी –  44900 + 7633 + 2106 = Rs.54639/-

इस तरह उस Employee की Gross Salary या तो 61823/- (with HRA) होगी या 54639/-(without HRA) होगी।

अब हम आते हैं Deductions के calculation पर

Deductions

जैसा कि पहले ही बताया जा चुका है कि Gross Salary में से कुछ Deductions के बाद Net Salary प्राप्त होती है।

Deductions भी दो तरह के होते हैं। कुछ ऐसे deductions होते हैं जिन्हें सभी Government Employee के Salary में से घटाया जाता है।

दूसरे ऐसे Deductions होते हैं जो इस बात पर निर्भर करते हैं कि उस employee की posting किस शहर में है। यानि ये जगह-जगह के अनुसार बदलते हैं।

पहले हम यह देख लेते हैं कि कौन-कौन से संभावित Deductions हो सकते हैं। ये हैं –

  • CGHS
  • CGIGS
  • NPS
  • LICENCE FEE
  • PT

अब एक-एक करके इनके बारे में जानकारी लेते हैं।

CGHS Contribution

CGHS का Full Form होता है- Central Government Health Scheme ।

नाम से ही स्पष्ट है कि यह एक Health Scheme है जिसके अंतर्गत employee की Salary से हर महीने कुछ Amount काट लिया जाता है। इसके बदले Employee को CGHS Hospital में Treatment कराने पर कम पैसा लगता है।

लेकिन यह सुविधा सभी शहरों में उपलब्ध नहीं है। इसलिए यह Deduction सभी Government Employee पर लागू नहीं होता है।

यह इस बात पर निर्भर करता है कि Employee की Posting किस शहर में है। यदि Employee की Posting किसी ऐसे शहर में है जहाँ CGHS की सुविधा है वहाँ यह Deduction अनिवार्यतः किया जाता है।

लेकिन यह भी देखा जाता है कि Employee जिस जगह पर रह रहा है वह CGHS Covered Area में है या नहीं। यदि उसका निवास स्थान CGHS Covered Area में है तो यह Deduction होगा वरना नहीं।

लेकिन जिस Employee की Salary से यह Deduction नहीं होता है उसे CGHS की सुविधा नहीं मिलती है बल्कि उसे AMA(Authorized Medical Attendant) की सुविधा मिलती है।

इसके बारे में हम किसी अन्य लेख में चर्चा करेंगे।

CGHS के तहत प्रतिमाह Salary से जो Deduction होता है वह Pay Level के अनुसार होता है। जो नीचे दिए गए Table के अनुसार है-

Sl. No.Pay LevelDeduction(in Rs.)
1Level 1 से 5250
2Level 6450
3Level 7 से 11650
4Level 12 और ऊपर1000

चूंकि हम यहाँ Basic Pay 44900/- को उदाहरण के तौर पर लेकर चल रहे हैं जो Pay Level 7 में है। इस तरह CGHS के तहत प्रतिमाह Salary से जो Deduction होगा वह 650/- है।

इस तरह हमारे calculation के लिए जो पहला Deduction मिला है वह 650/- रुपये है।

अब अगला Deduction देखते हैं, जो है CGEGIS.

CGEGIS Contribution

इसका Full Form होता है- Central Government Employee Group Insurance Scheme.

यह एक Insurance Scheme है जो Central Government की तरफ से उपलब्ध कराया जाता है।

हम यहाँ इसकी विस्तृत जानकारी नहीं दे रहे हैं क्योंकि हमें इस लेख में Salary calculate करना सीखना है। तो बस हम यहाँ deduction का amount बताएंगे।

CGEGIS के तहत प्रतिमाह जो Deduction होता है वह अभी भी Group के अनुसार होता है Pay Level के अनुसार नहीं । जो निम्नलिखित है-

Group A- Rs.120/- प्रतिमाह

Group B- Rs.60/- प्रतिमाह

Group C- Rs.30/- प्रतिमाह

Pay Level 7 के अंतर्गत आने वाले कर्मचारी अक्सर Group B में होते हैं। लेकिन किसी-किसी विभाग में ये Group C भी होते हैं।

इसलिए हमारे उदाहरण में या तो 60/- प्रतिमाह deduction होगा या 30/- प्रतिमाह। हम यहाँ मानकर चलते हैं कि Deduction 60/- प्रतिमाह हो रहा है।

इस तरह हमारा दूसरा deduction CGEGIS के रूप में 60/- मिल गया।

अब अगला Deduction देखते हैं जो है NPS Contribution.

NPS Contribution

NPS का Full Form होता है- New Pension Scheme । यह Pension Scheme 2004 से लागू है जिसने Old Pension Scheme का स्थान लिया। NPS के तहत जो deduction होता है वह है Basic Pay और DA के कुल योग का 10% । अर्थात 

NPS Contribution = (Basic Pay + DA) का 10%

   = (44900/- + 7633/-) का 10%

    = 52533/- का 10% = 5253/-

इस तरह NPS के तहत प्रतिमाह Salary से जो deduction होगा वह है- Rs.5253/-

अब इसके बाद का deduction है Licence Fee.

Licence Fee

Government Quarters में रहने वाले कर्मचारियों के लिए July 2020 से नया Licence Fee लागू हो चुका है।

इसका रेट Government Quarters के type के अनुसार होता है। Type-II के लिए यह 370/- है तो Type-III के लिए 560/- है।

Level 7 के अंतर्गत आने वाला employee अक्सर Group B में आता है जो Type-III के लिए Eligible होता है। यदि वह Government Quarters में रह रहा है तो उसके Salary से प्रतिमाह 560/- Deduct होंगे।

इस तरह हमारा यह Deduction भी पता चल गया।

अब अगला Deduction है PT यानि Professional Tax.

Professional Tax

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है कि यह एक प्रकार का Tax है। यह Employee के salary पर लगाया जाता है।

जैसे केंद्र सरकार Salary के अनुसार Income Tax Slab बनाती है उसी प्रकार Professional Tax की वसूली राज्य सरकार Income के अनुसार करती है।

चूंकि यह राज्य सरकारों के द्वारा लगाया जाता है, इसलिए इसके Rate में भिन्नता होती है। जैसे कर्नाटक में दो Slab बनाए गए हैं जिसमें 15000 तक के Income पर Professional Tax नहीं लगता है और इससे अधिक Income पर 200/- रुपये Professional Tax है।

इसी तरह इसी तरह आंध्र प्रदेश में तीन Slab हैं और अधिकतम Professional Tax 200/- रुपये है। अधिकतर राज्यों में Professional Tax की अधिकतम सीमा 200/- रुपये ही है।

तो हम अपने उदाहरण में मान कर चलते हैं कि Professional Tax के रूप में Salary से 200/- रुपये deduction हो रहे हैं।

ऊपर दिए गए Deductions के अलावा एक और deduction होता है, वह है- water and maintenance charge

यह उन सरकारी कर्मचारियों की salary से deduct होता है जो Government Quarters में रहते हैं। इसका amount जगह के अनुसार बदलता रहता है। हम मान कर चल रहे हैं कि यह औसतन 800/- रुपये है।

इस तरह हमारे सभी Deductions प्राप्त हो गए है।

अब हम Net Salary calculate कर सकते हैं।

पहले हम Gross Salary और Total Deduction को एक टेबल में रख लेते हैं-

Gross Salary

Basic Pay44900
HRA7184
DA7633
TA2106
Total61823

Deductions

CGHS650
CGEGIS60
NPS5253
PT200
Total6163

Net Salary= Gross Salary – Deductions = 61823 – 6163 = 55660/-

इस तरह Employee की Net Salary होगी- 55660/-

यह तब है जब वह Government Quarters में नहीं रहता है। यदि उसने Government Quarter ले रखा है तो Gross Salary से HRA घटा देंगे और Total Deductions में Licence Fee और Water and Maintenance charge जोड़ देंगे।

तो अब Employee की Gross Salary होगी-

Basic Pay + DA + TA = 44900 + 7633+ 2106 = 54639/-

और Total Deduction में वृद्धि हो जाएगी जो है- 6163+560+800 = 7523

तो Net Salary = 54639 – 7523 = 47116/-

निष्कर्ष:

हमनें इस लेख में बताया है कि किसी Government Employee की Salary किस तरह Calculate करते हैं।

इसके लिए हमें यह पता होना चाहिए कि Pay Matrix के अनुसार उसका Pay Level क्या है।

Pay Level के आधार पर हम उसकी Basic Pay पता कर सकते हैं। एक बार Basic Pay ज्ञात होने पर आसानी से HRA, DA, TA भी calculate कर सकते हैं।

Pay Level और Basic Pay के आधार पर हम उसके salary से होने वाले Deductions भी calculate कर सकते हैं। और अंत में उसकी Net Salary ज्ञात कर सकते हैं।   

FAQs – Salary of a Government Employee as per 7th CPC

1. एक सरकारी कर्मचारी की सैलरी किस आधार पर कैलकुलेट होती है?

एक सरकारी कर्मचारी की सैलरी सातवें वेतन आयोग के Pay Matrix के अनुसार कैलकुलेट होती है।

2. Pay Matrix में Pay Level क्या है?

Pay Matrix में पहले से चले आ रहे Grade Pay के स्थान पर Pay Level लागू किया गया। Pay Matrix में 18 Pay Level हैं।

3. एक सरकारी कर्मचारी की Gross Salary में क्या-क्या होता है?

एक सरकारी कर्मचारी की सैलरी में Basic Pay, Home Rent Allowance, Dearness Allowance यानि महंगाई भत्ता और Transport Allowance होते हैं।

4. एक सरकारी कर्मचारी की सैलरी से क्या-क्या deductions होते हैं?

एक सरकारी कर्मचारी की सैलरी से CGHS, CGIGS, NPS, LICENCE FEE और Professional Tax के deduction किया जाता है। यदि वह कर्मचारी किसी गवर्नमेंट क्वार्टर में रहता है तो उसकी सैलरी से Home Rent Allowance भी काट लिया जाता है।

Leave a Comment

SSC CGL 2022 परीक्षा पैटर्न में बदलाव SSC CGL 2022 Notification Out : Apply Online FCI Manager Recruitment 2022 Notification Out Earned Leave Rules for central government employees