Difference between CBDT and CBIC in SSC CGL | नौकरी करने की दृष्टि से CBDT और CBIC में अंतर

Difference between CBDT and CBIC in SSC CGL: SSC CGL की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों के लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि नौकरी करने की दृष्टि से CBDT और CBIC में क्या अंतर है?

क्योंकि यदि कोई अभ्यर्थी SSC के माध्यम से ऐसे विभाग में नौकरी प्राप्त करता है जहाँ के working hours उसके दैनिक जीवन के प्रतिकूल हैं तो उसके लिए काम करने में बहुत कठिनाई होगी।

वैसे यदि किसी अभ्यर्थी को किसी सरकारी विभाग में नौकरी मिल जाती है तो वह उसे जरूर करना चाहेगा, लेकिन यदि उसे उस विभाग के बारे में पहले से ही कुछ जानकारी है तो वह उसी अनुसार अपने भविष्य के बारे में सोचेगा।

CBDT और CBIC में भी काम करने के दिन, घंटे और तरीके में कुछ अंतर हैं और इससे संबंधित प्रश्न अभ्यर्थियों के मन में भी आते हैं।

इस प्रश्न और उत्तर से संबंधित लेख में हमने कुछ ऐसे ही महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर दिए हैं।

CONTENTS Show

नौकरी करने की दृष्टि से CBDT और CBIC में अंतर (Difference between CBDT and CBIC in SSC CGL)

SSC CGL के तहत आने वाले CBDT और CBIC (पहले CBEC) में क्या अंतर है?

CBDT का Full Form है – Central Board of Direct Taxes और CBIC का Full Form है Central Board of Indirect Taxes and Customs जिसे पहले CBEC यानी Central Board of Excise and Customs भी कहा जाता था।

CBDT और CBIC दोनों राजस्व विभाग के अंतर्गत आते हैं।

CBDT के Full Form से स्पष्ट है कि यह Direct Taxes अर्थात Income Tax से जुड़ा है और इसीलिए इसमें सेलेक्ट होने वाले candidates की पोस्टिंग Income Tax Department में होती है।

वहीं CBIC, Indirect Taxes और Customs से जुड़ा है और इसमें सेलेक्ट होने वाले candidates की पोस्टिंग GST (जो पहले Excise के नाम से जाना जाता था) और Customs Department में होती है।

जॉब करने की दृष्टि से कौन बेहतर है, CBDT या CBIC?

जैसा कि SSC CGL के notification में आपने देखा होगा कि CBDT और CBIC में Inspector और Tax Assistant पद के लिए आयोग परीक्षा लेता है।

इसलिए सबसे पहले Inspector की बात करें तो वर्तमान में दोनों डिपार्ट्मन्ट में से किसी में भी नौकरी करना बेहतर है।

काम करने के मामले में Place of Posting और Section के अनुसार कभी-कभी काम अधिक होता है और कभी कम।

साथ ही जब किसी CBIC के तहत किसी Inspector की posting Customs में होती है तो उसे Shift के अनुसार काम करना पड़ता है।

Inspector के प्रमोशन के मामले में CBIC अब बेहतर हो चुका है। सामान्यतया एक GST Inspector 2 से 3 साल में पहला प्रमोशन प्राप्त कर लेता है।

लेकिन एक Tax Assistant की बात करें तो CBIC की तुलना में CBDT बेहतर है।

यदि काम की तुलना करें तो Income Tax के एक Tax Assistant के काम का विस्तार अधिक है। उसे Administration, Establishment और Accounts Section में काम करने के अलावा कुछ Income Tax से संबंधित भी काम करने पड़ते हैं।

वहीं GST में तैनात एक Tax Assistant को सामान्यतया Administration, Establishment और Accounts Section से संबंधित ही काम करने पड़ते हैं।

जहाँ तक Promotion की बात है तो Income Tax Department में एक Tax Assistant लगभग 3 से 4 साल में अगले पद पर प्रोमोट हो जाता है।

वहीं GST में काम करने वाले Tax Assistant का पहला Promotion अब नए Recruitment Rules के अनुसार 10 साल में होगा और अगले 5 साल बाद वह Inspector के पद पर पहुंचेगा।

इस तरह GST में कार्यरत एक Tax Assistant को Inspector के पद पर पहुँचने में कुल 15 साल लग जाएंगे।

Inter Commissionerate Transfer भी Income Tax Department में अच्छा है।

कुल मिलाकर एक Tax Assistant के लिए GST की तुलना में Income Tax Department बेहतर है।

GST और Income Tax Department में एक Tax Assistant का Job Profile क्या है और Salary कितनी है?

इस प्रश्न के उत्तर के लिए आप नीचे दिए गए लेख को पढ़ सकते हैं –

Tax Assistant Salary, Job Profile और Promotions के बारे में विस्तृत जानकारी

GST Inspector Job Profile क्या है और Salary कितनी होती है?

इस प्रश्न के उत्तर के लिए आप नीचे दिए गए लेख को पढ़ सकते हैं –

GST Inspector Salary, Job Profile, Promotion के बारे में विस्तृत जानकारी

क्या Income Tax Department में कार्यरत एक Tax Assistant का प्रमोशन की अवधि ज़ोन पर भी निर्भर करती है?

हाँ, किसी-किसी ज़ोन में यह प्रमोशन 2 से 3 साल में ही हो जाता है तो कहीं पर 4 से 5 साल भी लग जाते हैं।

क्या GST में प्रमोशन के लिए Tax Assistant और Inspector को कोई Departmental परीक्षा देनी पड़ती है?

GST में Tax Assistant और Inspector के लिए Departmental परीक्षाएं अलग-अलग होती हैं।

सबसे पहले हम Confirmation यानी स्थायीकरण के लिए Departmental परीक्षा की बात करें तो यह दोनों पदों के लिए जरूरी है।

लेकिन जहाँ Inspector के पद लिए Confirmation परीक्षा साल में दो बार होती है वहीं Tax Assistant पद लिए यह परीक्षा साल में एक ही बार होती है।

दोनों पदों पर स्थायी होने के लिए इस परीक्षा को उत्तीर्ण करना जरूरी है।

जहाँ तक प्रमोशन के लिए Departmental परीक्षा की बात है तो यह केवल Tax Assistant के लिए जरूरी होता है।

Tax Assistant को अगले पद अर्थात Executive Assistant के पद पर प्रमोशन पाने के लिए एक Departmental परीक्षा देनी पड़ती है।

Executive Assistant को भी यदि Inspector के पद पद प्रमोशन चाहिए होता है तो उसे भी एक Departmental परीक्षा देनी पड़ती है।

Tax Assistant के लिए Departmental परीक्षा के बारे में विस्तृत जानकारी के लिए नीचे दिए गए लेख को अवश्य पढ़ें-
CBIC Tax Assistant Departmental Exam : Confirmation और Promotion के लिए विभागीय परीक्षाएं

लेकिन Inspector को केवल Confirmation के लिए ही परीक्षा देनी होती है। इन्हें अगले पद पर प्रमोशन पाने के लिए किसी तरह के Departmental परीक्षा देने की जरूरत नहीं पड़ती है।

इन्हें केवल एक Training पूरी करनी होती है जो अगले पद पर प्रमोशन पाने के लिए mandatory होती है। इस Training को पूरा किए बिना उन्हें अगले पद पर प्रमोशन नहीं दिया जा सकता है।

क्या GST में काम करने वाले एक Tax Assistant की पोस्टिंग Customs विभाग में भी होती है?

CBIC में Indirect Taxes का मतलब यहाँ GST ( Goods and Services Tax) से है और CBIC में दूसरा विभाग है वह Customs ही है।

इसलिए CBIC के लिए Select हुए candidates की पोस्टिंग GST और Customs दोनों में से कहीं पर भी हो सकती है।

किसी candidate के Selection के बाद उसके State Preference और Marks के अनुसार Zone का बंटवारा कर दिया जाता है।

उसके बाद वह candidate उस Zone के संबंधित PCCO/CCO(Principal / Chief Commissioner Office) में Join करता है। वहाँ से उसे GST के अंतर्गत आने वाले किसी Commissionerate में या Customs में posting दी जाती है।

Inspector पद के लिए चयनित किसी Candidate की पहली पोस्टिंग सामान्यतया GST में ही दी जाती है और कुछ सालों बाद ही उसे Customs में भेजा जाता है।

लेकिन Tax Assistant के मामले में ऐसा जरूरी नहीं है। उसकी पहली पोस्टिंग कस्टम्स में भी हो सकती है।

GST और Customs में सप्ताह में कितने दिन और कितने घंटे काम करना पड़ता है?

पहले हम इन्स्पेक्टर के काम करने के दिन और घंटे के बारे में बात करते हैं।

एक GST Inspector को सप्ताह में 5 दिन सुबह 9.30 बजे से लेकर शाम के 6.00 बजे तक काम करना पड़ता है तथा शनिवार और रविवार को छुट्टी रहती है।

वहीं Customs में कार्यरत एक Inspector को अपने Place of postings के अनुसार काम करना पड़ता है।

Customs विभाग में कुछ Sections में पूरे सप्ताह 24 x 7 काम होता है। इसलिए इन Sections में shift wise काम होता है और उसी के अनुसार Inspectors की पोस्टिंग की जाती है।

कुछ Sections ऐसे भी होते हैं जहाँ Normal working hours होते हैं यानी उन्हें सप्ताह के 6 दिन सुबह 10.00 बजे से लेकर शाम के 5.30 बजे तक काम करना पड़ता है तथा शनिवार को छुट्टी रहती है।

जहाँ तक GST में Tax Assistant के काम करने के दिन और घंटे की बात है तो इन्हें भी Inspectors की तरह सप्ताह में 5 दिन सुबह 9.30 बजे से लेकर शाम के 6.00 बजे तक काम करना पड़ता है तथा शनिवार और रविवार को छुट्टी रहती है।

Customs विभाग में Tax Assistant के लिए Normal working hours होते हैं यानी उन्हें सप्ताह के 6 दिन सुबह 10.00 बजे से लेकर शाम के 5.30 बजे तक काम करना पड़ता है तथा शनिवार को छुट्टी रहती है।

Difference between CBDT and CBIC in SSC CGL : निष्कर्ष-

इस लेख में हमनें देखा कि एक Inspector और Tax Assistant के लिए काम करने, प्रमोशन, सैलरी आदि की दृष्टि से CBDT और CBIC में क्या अंतर है।

हम अपने अनुभव के आधार पर यह कह सकते हैं कि एक Inspector के लिए तो CBDT और CBIC दोनों में प्रमोशन को लेकर अब उतना अंतर रह नहीं गया है।

लेकिन एक Tax Assistant के लिए अब CBDT बेहतर माना जा रहा है, क्योंकि CBIC में Tax Assistant का पहला प्रमोशन ही अब दस साल कर दिया गया है।

इसके अलावा हमनें इस लेख के माध्यम से यह भी जाना कि Inspector और Tax Assistant के जॉब प्रोफाइल के आधार पर CBDT और CBIC में क्या अंतर है।

CBDT और CBIC में काम करने की दृष्टि से संबंधित उपरोक्त महत्वपूर्ण प्रश्नों के अलावा और भी प्रश्न जैसे-जैसे हमारे सामने आते जाएंगे उनका उत्तर हम यहाँ अपडेट करते रहेंगे।

यदि उपरोक्त जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया शेयर करना ना भूलें।

Leave a Comment