4 Colour dots in Newspaper in Hindi

4 Colour dots in Newspaper in Hindi- आप रोज Newspaper पढ़ते हैं और नीचे की तरफ दिए गए चार Colour dots को भी देखते हैं, लेकिन कभी आपने सोचा है कि आखिर इन्हें Newspaper में छापने की क्या जरुरत है।

यदि आपने इन्हें ध्यान से देखा होगा तो आपको उत्सुकता भी हुई होगी कि इन Colour dots में कौन सा राज छिपा है

किसी-किसी Newspaper में इन चार Colour dots की जगह Colour के नाम के पहले अक्षर दिखाई देते हैं I जैसा कि नीचे चित्र में दिखाया गया है –

4 Colour dots in Newspaper in Hindi

तो आईये जानते हैं कि इन चार Colour dots को Newspaper में छापने की क्या जरुरत है और इनका Newspaper की छपाई में होना क्यों अनिवार्य है?


यह भी पढ़ें-
RO kya hota hai | what is RO in Hindi?
Difference between Mbps and MBps | Mbps और MBps में अंतर

4 Colour dots in Newspaper in Hindi-

आप अपने घर या ऑफिस में कलर प्रिंटिंग के लिए कलर इंकजेट या लेजर प्रिंटर का प्रयोग करते हैं I इसी तरह Newspaper की प्रिंटिंग के लिए एक बहुत बड़े ऑफसेट प्रिंटिंग मशीन का प्रयोग किया जाता है I 

तो चाहे आपके घर या ऑफिस में एक छोटा सा कलर प्रिंटर हो या अख़बार तथा किताबों की छपाई के लिए बहुत बड़ा ऑफसेट प्रिंटर, इन सभी कलर प्रिंटर में चार प्रकार के रंगों का ही प्रयोग किया जाता है I जो इस प्रकार हैं – 

Cyan –  

जैसा कि ऊपर दिए गए चित्र से स्पष्ट है कि यह रंग हरे और नीले रंगों को एक उचित अनुपात में मिलाकर बनाया जाता है I 

Magenta-

4 Colour dots in Newspaper in Hindi

Yellow-

4 Colour dots in Newspaper in Hindi

Black-

4 Colour dots in Newspaper in Hindi

किसी भी प्रिंटर के लिए काला रंग सबसे महत्वपूर्ण होता है I इसलिए काले रंग को प्रिंटिंग की दुनिया में ‘Key color’ के नाम से जानते हैं I

यही कारण है कि यहाँ काले रंग को Black के पहले अक्षर ‘B’ से इंगित ना करके ‘Key’ शब्द के पहले अक्षर ‘K’ से इंगित किया गया है I

कभी-कभी इसे Black शब्द के पहले अक्षर ‘B’ और अंतिम अक्षर ‘k’ को मिलाकर ‘Bk’ से भी दर्शाया जाता है I 

कलर प्रिंटर इन्हीं चार रंगों को Manage करके एक रंगीन चित्र की छपाई करता है I Newspaper और किताबों की प्रिंटिंग के लिए भी ऑफसेट प्रिंटर में इन्हीं चार रंगों का प्रयोग किया जाता है I

जैसा कि हम जानते हैं कि लाल, नीला और हरा रंग प्राथमिक रंगों (primary colors) के रूप में जाने जाते हैं I

अधिकतर जगहों पर colour photo के लिए इन्ही रंगों का प्रयोग किया जाता है I Colour TV में भी इन्हीं तीन रंगों का प्रयोग किया जाता है I

जबकि प्रिंटिंग प्रेस में colour photo के लिए Cyan, Magenta, Yellow और Black का प्रयोग किया जाता है I

Newspaper की छपाई के लिए प्रिंटिंग प्रेस में इन चार रंगों के लिए अलग-अलग Color plates का प्रयोग किया जाता है I

ये color plates जब तक सही स्थिति में रहती हैं तब तक Newspaper में तस्वीरें साफ-सुथरी छपती हैं और पेज के निचले हिस्से में आने वाले ये चार Colour dots भी साफ-सुथरे छपते हैं I यानि कि ये एक दूसरे से अलग होते हैं और इनकी overlapping नहीं होती I 

4 Colour dots in Newspaper in Hindi

ऊपर दिए गए चित्र में चार colour dots के बीच एक क्रॉस का निशान भी बना हुआ है I यह भी सब कुछ सही रहने पर साफ-सुथरा नजर आता है, जैसे कि नीचे चित्र में दिखाया गया है I  

4 Colour dots in Newspaper in Hindi

लेकिन जैसे ही इन color plates की स्थिति में कोई बदलाव आता है यानि कि जब ये plates एक दूसरे के ऊपर चढ़ जाती हैं (overlapping) तो तस्वीरों के साथ-साथ इन चार Colour dots और उनके बीच बने क्रॉस की छपाई भी धुंधली होने लगती है I जैसे कि नीचे चित्र में दर्शाया गया है –

4 Colour dots in Newspaper in Hindi

इन चार Colour dots की धुंधली छपाई देखकर वहाँ काम करने वाले कर्मचारी समझ जाते हैं कि color plates एक दूसरे के ऊपर चढ़ गयी हैं और Newspaper में छपने वाली तस्वीरें साफ नहीं छप रही होंगी I इस तरह वे प्रेस के इस तकनिकी गड़बड़ी को आसानी से पकड़ लेते हैं I 

इसीलिए CMYK को पंजीकरण मार्क्स (Registration marks) भी कहा जाता है I  

चार कलर dots का महत्व / importance of 4 Colour dots in Newspaper :

चूँकि एक प्रिंटिंग प्रेस में एक दिन में हजारों-लाखों Newspaper छपते हैं और इन सभी को जांचना बहुत ही मुश्किल काम होता है I

ऐसी स्थिति में ये चार Colour dots बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाते हैं I एक अनुभवी कर्मचारी केवल इन चार Colour dots की छपाई देखकर ही समझ जाता है कि Newspaper में छपने वाली तस्वीरें साफ़- सुथरी छप रहीं हैं या नहीं I

ये चार Colour dots अर्थात CMYK मार्क किताबों में रंगीन छपाई के दौरान भी पेज के एक हिस्से में चित्रित हो जाते हैं लेकिन किताबों की binding करते समय इन्हें काटकर अलग कर दिया जाता है I

Black & White Newspaper में इन चार Colour dots की जगह  केवल काले रंग का dot ही दिखाई देता है I 

निष्कर्ष:

उपरोक्त लेख में हमनें देखा कि Newspaper में चार Colour dots का मतलब क्या है और इनका महत्व क्या है। 4 Colour dots in Newspaper in Hindi .

हमनें जाना कि कैसे इन चार बिंदुओं की मदद से प्रिंटिंग प्रेस में अखबारों और पुस्तकों की अच्छी और साफ सुथरी छपाई की जा सकती है।

यदि इन बिंदुओं की छपाई में धुंधलापन दिखता है तो स्पष्ट हो जाता है कि अखबारों या पुस्तकों में छपने वाले चित्र भी धुंधले होंगे।

इस तरह ये चार बिन्दु अखबारों और पुस्तकों की छपाई में बहुत ही महत्वपूर्ण होते हैं।

Leave a Comment