SSC CGL Syllabus in Hindi 2022

यदि आप SSC CGL परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो SSC CGL Exam Pattern जानने के साथ-साथ SSC CGL Syllabus in Hindi जानना भी बहुत जरूरी है।

Syllabus की अच्छी जानकारी होने के बाद ही किसी भी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी की अच्छी शुरुआत की जा सकती है।

एक लेख में हमनें पहले ही इस बात का जिक्र किया है कि किसी भी परीक्षा की तैयारी करने से पहले उसके syllabus के बारे में जानना चाहिए।

इसलिए हमनें इस लेख में SSC CGL Syllabus in Hindi के बारे में विस्तृत जानकारी दी है। यह आपको इस परीक्षा की तैयारी करने में मदद करेगा।

यह भी पढ़ें-  
1. SSC CGL: GST Inspector Salary, Job Profile, Promotion   

2. SSC CHSL Exam Syllabus, 2022 in Hindi

SSC CGL Syllabus in Hindi , 2022

SSC CGL Exam 2022 के नए परीक्षा पैटर्न के अनुसार अब इस परीक्षा में केवल दो ही चरण (Tier) होंगे।

पहले Tier 3 में जो परीक्षा होती थी वह descriptive प्रकार की होती थी। लेकिन इस साल इसे हटा दिया गया है। और जो पहले skill test / typing test अलग से लिए जाते थे, अब Tier-2 के ही दौरान ये test हो जाएंगे।

इसलिए अब आपको SSC CGL में केवल Tier-1 और Tier-2 परीक्षा की ही तैयारी करनी है।

तो आईए जानते हैं SSC CGL Tier-1 और Tier-2 परीक्षा का सिलेबस क्या है।

SSC CGL Syllabus in Hindi-Tier-I

आपकी आसानी के लिए हम यहाँ SSC CGL Syllabus को हिन्दी और English दोनों में उपलब्ध करा रहे हैं।

Tier-I परीक्षा के पैटर्न के अनुसार पेपर के चार भाग होते हैं। जिनका syllabus निम्न प्रकार है।

भाग-I – सामान्य बुद्धि और तर्कशक्ति / General Intelligence and Reasoning-

SSC CGL Syllabus के इस भाग में हम Verbal और Non-verbal दोनों प्रकार के प्रश्नों के बारे में बताएंगे।

इस भाग में निम्नलिखित topics से प्रश्न पूछे जाते हैं।

Topics in EnglishTopics in Hindi
Semantic Analogy, Symbolic/Number Analogy, Figural Analogyसीमेंटिक समानता, प्रतीकात्मक/ अंक संबंधी समानता, आंकडे संबंधी समानता
Semantic Classification, Symbolic/ Number Classification, Figural Classificationसीमेंटिक वर्गीकरण, प्रतीकात्मक/अंक संबंधी वर्गीकरण, आंकड़े संबंधी वर्गीकरण
Semantic Series, Number Series, Figural Seriesसीमेंटिक क्रम, अंक क्रम, आंकड़े संबंधी क्रम
Problem Solving, Word Buildingसमस्या समाधान, शब्द निर्माण
Coding & de-codingकोडिंग एवं डिकोडिंग
Numerical Operations, symbolic Operationsसंख्यात्मक संक्रिया, प्रतीकात्मक संक्रिया
Trendsउपनति
Space Orientation, Space Visualizationस्थानिक अभिविन्यास, स्थानिक कल्पना
Venn Diagrams, Drawing inferencesवेन डाइग्राम, रेखाचित्र अनुमिति
Punched hole/ pattern- folding & un-folding, Figural Pattern-folding and completionपंच्ड होल/पैटर्न-फोल्डिंग एंव अनफोल्डिंग, आकृति पैटर्न फोल्डिंग एवं कम्प्लीशन
Indexing, Address matching, Date & city matchingसूचीकरण, पता मिलान, तिथि व शहर मिलान
Classification of centre codes/ roll numbersकेंद्र कोड अनुक्रमांक का वर्गीकरण
Small & Capital letters/ numbers coding, decoding and classification, Embedded Figuresछोटे एवं बड़े अक्षर/ अंक डिकोडिंग व वर्गीकरण, अंत: स्थापित आंकड़े
Critical thinking, Emotional Intelligence, Social Intelligenceआलोचनात्मक विवेचन, भावनात्मक बुद्धिमत्ता, सामाजिक बुद्धद्रिकत्ता तथा अन्य उप-विषय

भाग- II – सामान्य जागरूकता / General Awareness-

SSC CGL Syllabus के इस भाग में मुख्यतया निम्न topics से प्रश्न पूछे जाते हैं-

  • इतिहास – इसके अंतर्गत अधिकतर प्रश्न भारतीय इतिहास से पूछे जाते हैं। कभी-कभी विश्व इतिहास से भी प्रश्न आते हैं।
  • भारतीय संस्कृति और सभ्यता
  • भूगोल– मुख्यतया भारतीय भूगोल
  • भारतीय राजव्यवस्था और संविधान
  • अर्थव्यवस्था और अर्थशास्त्र
  • सामान्य विज्ञान – जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान, कंप्युटर विज्ञान
  • टेक्नालजी – स्पेस, डिफेन्स इत्यादि
  • स्टैटिक सामान्य ज्ञान- सम्मान और पुरस्कार, महत्वपूर्ण तिथियाँ, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संगठन, खेल, कला और संस्कृति, पुस्तकें और लेखक आदि
  • समसामयिकी ( Current Affairs)– राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय

भाग- III – परिमाणात्मक अभिरुचि / Quantitative Aptitude-

Topics in EnglishTopics in Hindi
Whole numbers, decimals, fractions and relationships between numbersपूर्णाक संख्याएँ अभिकलन, दशमलव खण्ड, और संख्याओं के बीच परस्पर संबंध
Percentage, Ratio & Proportion, Square roots, Averages, Interest, Profit and Loss, Discount, Partnership Business, Mixture and Allegation, Time and distance, Time & Workप्रतिशतता, अनुपात और समानुपात, वर्गमूल, औसत, ब्याज, लाभ एवं हानि, बट्टा, साझेदारी व्यापार, मिश्रण एवं संहसंबधन, समय और दूरी, समय और कार्य
Basic algebraic identities of School Algebra & Elementary surds, Graphs of Linear Equationsस्कूली बीजगणित एवं प्रारंभिक करणी के बीजगणितीय ज्ञान, रेखीय समीकरणों के ग्राफ
Triangle and its various kinds of centres, Congruence and similarity of triangles, Circle and its chords, tangents, angles subtended by chords of a circle, common tangents to two or more circlesत्रिभुज और उनके विभिन प्रकार के केन्द्र, त्रिभुजों की समरूपता और समानता, वृत्त और उसकी जीवा, स्पर्श रेखाएँ, वृत्त की जीवाओं द्वारा अंतरित कोण, दो या अधिक वृत्तों की समान स्पर्श रेखाएं
Triangle, Quadrilaterals Regular Polygons, Circle, Right Prism, Right Circular Cone, Right Circular Cylinder, Sphere, Hemispheres, Rectangular Parallelepiped, Regular Right Pyramid with triangular or square baseत्रिभुज, चतुर्भुज, समभुज कोणीय बहुभुज, वृत्त, समप्रिज्प, सम गोलाकार शंकु, सम गोलाकार बेलन, गोला, गोलार्द्ध, आयताकार समान्तरषघटफलक, त्रिकोणिय अथवा वर्गाकार आधार वाला समभुज कोणीय सम पिरामिड
Trigonometry and Trigonometric ratio, Degree and Radian Measures, Standard Identities, Complementary angles, Heights and Distancesत्रिकोणमिती और त्रिकोणमितीय अनुपात, डिग्री और रेडियन माप, मानक सहरुप्यता, अनुपूरक कोण, ऊंचाई और दूरी
Histogram, Frequency polygon, Bar diagram & Pie chartहिस्टोग्राम, आवृत्ति बहुभुज, बार आरेख और पाई-चार्ट

भाग- IV – English language and Comprehension-

SSC CGL Exam Syllabus 2021 in Hindi
SSC CGL Exam Syllabus-English and comprehension

SSC CGL Syllabus in Hindi-Tier-II

SSC CGL Exam Pattern 2022 के अनुसार अब Tier-II में तीन पेपर की परीक्षा होगी। जिनके syllabus का विवरण निम्न प्रकार से है-

Paper-Iपरिमाणात्मक अभिरुचि / Quantitative Aptitude-

Tier-II के इस पेपर का syllabus, Tier-I के पेपर के इस भाग के समान ही है। इसलिए इसके बारे में हम यहाँ फिर से detail में जानकारी नहीं दे रहे हैं।

इसके लिए ऊपर दिये गए Tier-I के Quantitative Aptitude के भाग के syllabus को देख सकते हैं।

Paper-III- Statistics / सांख्यिकी :

Topics in EnglishTopics in Hindi
1. Collection, Classification and Presentation of Statistical Data – Primary and Secondary data, Methods of data collection; Tabulation of data; Graphs and charts; Frequency distributions; Diagrammatic presentation of frequency distributions.
2. Measures of Central Tendency- Common measures of central tendency – mean median and mode; Partition values- quartiles, deciles, percentiles.
3. Measures of Dispersion– Common measures dispersion – range, quartile deviations, mean deviation and standard deviation; Measures of relative dispersion
4. Moments, Skewness and Kurtosis – Different types of moments and their relationship; meaning of skewness and kurtosis; different measures of skewness and kurtosis.
5. Correlation and Regression – Scatter diagram; simple correlation coefficient; simple regression lines; Spearman’s rank correlation; Measures of association of attributes; Multiple regression; Multiple and partial correlation (For three variables only).
6. Probability Theory – Meaning of probability; Different definitions of probability; Conditional probability; Compound probability; Independent events; Bayes’ theorem
7. Random Variable and Probability Distributions – Random variable; Probability functions; Expectation and Variance of a random variable; Higher moments of a random variable; Binomial, Poisson, Normal and Exponential distributions; Joint distribution of two random variable (discrete)
8. Sampling Theory – Concept of population and sample; Parameter and statistic, Sampling and non-sampling errors; Probability and non-probability sampling techniques (simple random sampling, stratified sampling, multistage sampling, multiphase sampling, cluster sampling, systematic sampling, purposive sampling, convenience sampling and quota sampling); Sampling distribution (statement only); Sample size decisions
9. Statistical Inference – Point estimation and interval estimation, Properties of a good estimator, Methods of estimation (Moments method, Maximum likelihood method, Least squares method), Testing of hypothesis, Basic concept of testing, Small sample and large sample tests, Tests based on Z, t, Chi-square and F statistic, Confidence intervals.
10. Analysis of Variance – Analysis of one-way classified data and two-way classified data
11. Time Series Analysis – Components of time series, Determinations of trend component by different methods, Measurement of seasonal variation by different methods
12. Index Numbers – Meaning of Index Numbers, Problems in the construction of index numbers, Types of index number, Different formulae, Base shifting and splicing of index numbers, Cost of living Index Numbers, Uses of Index Numbers
1. सांख्यिकी डाटा का संकलन, वर्गीकरण और प्रस्तुतीकरण :
प्राथमिक और सहायक डाटा, डाटा संकलन की पद्धतियां, डाटा की सारणी, ग्राफ और चार्ट, आवृति संवितरण, आवृत्ति संवितरणों की आरेखीय प्रस्तुति।


2. केन्द्रीय प्रवृत्ति की माप :
केन्द्रीय प्रवृत्ति की सार्व माप-माध्य, माध्यिक, बहुलक; विभाजन मूल्य-चतुर्थक, दशमक, प्रतिशतक

3. परिक्षेपण का माप :
परिक्षेपण का सार्वमाप – दूरी चतुर्थक परिक्षेपण, माध्य परिक्षेपण तथा मानक परिक्षेपण; आनुपातिक परिक्षेपण का माप।

4. घूर्ण, स्कीवनेस व करटोसिस :
विभिन्‍न प्रकार के घूर्ण एवं उनके संबंध : स्कौवनेस व करटोसिस का अर्थ : स्कौवनेस व करटोसिस के विभिन्‍न माप

5. सहसम्बद्ध एवं प्रतिक्रमण :
आरेख छितराव, सामान्य सहसम्बद्ध गुणांक, सामान्य प्रतिक्रमण रेखा, स्पीयरमैन का श्रेणी सहसम्बद्ध, आरोपण के संगुणन का माप, बहुविध प्रतिक्रमण; बहुविध एवं आंशिक सहसम्बद्ध (केवल तीन चरों के लिए)।

6. संभाव्यता का सिद्धांत :
संभाव्यता का अर्थ : संभाव्यता की विभिन्न परिभाषाएँ; प्रतिबंधित संभाव्यता; संयुक्त संभाव्यता; स्वतंत्र विषय; बेय्स का प्रमेय।

7. यादृच्छिक चर एवं संभाव्यता विभाजन : यादृच्छिक चर; संभाव्यता फलन; यादृच्छिक चर की प्रत्याशा एवं प्रसरण; यादृच्छिक चर का उच्चतर घूर्ण; द्विपद, प्रोयजन, प्रमाणक और घातांकीय विभाजन; दो यादृच्छिक चरों
का संयुक्त विभाजन (प्रथक)




8. प्रतिदर्श के सिद्धांत :
जनसंख्या एवं प्रतिदर्श की अवधारणा; प्राचल एवं सांख्यिकी, प्रतिदर्श एवं गैर प्रतिदर्श त्रुटि; संभाव्यता एवं गैर संभाव्यता प्रतिदर्श तकनीक (सामान्य यादृच्छिक प्रतिचयन, स्ट्रेटिफाइड प्रतिदर्श, बहुचरण प्रतिदर्श, बहुपक्ष प्रतिदर्श, समूह प्रतिदर्श, क्रमबद्ध प्रतिचयन, सप्रयोजक प्रतिदर्श, सुविधा प्रतिदर्श, यथांश प्रतिदर्श); प्रतिदर्श विभाजन
(केवल विवरण); प्रतिदर्श आकार निर्णय


9. सांख्यिकीय अनुमान :
बिन्दु आकलन एवं मध्यान्तर आकलन, अच्छे
आकलक के गुणधर्म, आकलन की पद्धति (घूर्ण पद्धति, अधिकतम संभाविता पद्धति, लघुत्तम वर्ग पद्धति), परिकल्पना का परीक्षण, परीक्षण की मूल अवधारणा, लघु प्रतिदर्श और विस्तृत प्रतिदर्श परीक्षण; Z, t, Chi-square तथा F सांख्यिकी पर आधारित परीक्षण, निश्चयी अंतराल



10. प्रसरण का विश्लेषण : एक तरफा वर्गीकृत आंकड़े एवं दो तरफा
वर्गीकृत आंकड़ों का विश्लेषण
11. समय श्रृंखला विश्लेषण :
समय श्रृंखला के घटक, विभिन्‍न पद्धतियों
के माध्यम से प्रवणता घटक का निर्धारण, विभिन्‍न पद्धतियों के माध्यम से
आवर्तक अपक्रम का माप
12. सूचकांक – सूचकांक का अर्थ, सूचकांक के निर्माण में समस्या,
सूचकांक के प्रकार, विभिन्‍न सूत्र, सूचकांक का मूल विचलन व जोड़, अद्यतन सूचकांक की लागत, सूचकांक के प्रयोग


Paper-III – सामान्य अध्ययन (वित्त एवं अर्थशास्त्र ) / General Studies (Finance and Economics)

इस पेपर के दो भाग होते हैं जिनके syllabus की detail जानकारी यहाँ English और हिन्दी दोनों भाषाओं में दी गई है।

Part A: वित्त एवं लेखा / Finance and Accounts-(80 अंक):

Topics in EnglishTopics in Hindi
Fundamental principles and basic concept of Accounting:
1. Financial Accounting: Nature and scope, Limitations of Financial Accounting, Basic concepts and Conventions, Generally Accepted Accounting Principles.
2. Basic concepts of accounting: Single and double entry, Books of original Entry, Bank Reconciliation, Journal, ledgers, Trial Balance, Rectification of Errors, Manufacturing, Trading, Profit & loss Appropriation Accounts, Balance Sheet Distinction between Capital and Revenue Expenditure, Depreciation Accounting, Valuation of Inventories, Non-profit organisations Accounts, Receipts and Payments and Income & Expenditure Accounts, Bills of Exchange, Self Balancing Ledgers
लेखाशास्त्र के आधारभूत सिद्धांत और मूल अवधारणा:

1. वित्तीय लेखाशास्त्र : प्रकृति तथा कार्यक्षेत्र, वित्तीय लेखाशास्त्र की परिसीमाएं, मूल अवधारणा एवं परम्पराएं, सामान्यत : स्वीकृत लेखाकरण सिद्धांत

2. लेखाशास्त्र की मूल अवधारणाएं : एकल एवं दोहरा लेखा, मूल लेखा
की बहियां, बैंक समाधान, रोजनामचा, खाता बही कच्चा चिट्‌ठा, त्रुटियों का परिशोधन, विनिर्माण, व्यापार करना, लाभ एवं हानि,
विनियोजन लेखा, तुलनपत्र, पूँजीगत व्यय और राजस्व खर्च में भिन्‍नता, मूल्यह्रास लेखाकरण, सम्पत्ति सूची का मूल्यांकन, लाभ निरपेक्ष संगठन लेखा, प्राप्तियां एवं भुगतान तथा आय एवं व्यय लेखा, विनिमय पत्र, स्वत: संतुलन लेखा बहियां।

Part B: अर्थशास्त्र और अभिशासन / Economics and Governance(120 marks):

Topics in EnglishTopics in Hindi
1. Comptroller & Auditor General of India – Constitutional provisions, Role and responsibility
2. Finance Commission – Role and functions.
3. Basic Concept of Economics and introduction to Micro Economics: Definition, scope and nature of Economics, Methods of economic study and Central problems of an economy and Production possibilities curve
4. Theory of Demand and Supply: Meaning and determinants of demand, Law of demand and Elasticity of demand, Price, income and cross elasticity; Theory of consumer’s behavior-Marshallian approach and Indifference curve approach, Meaning and determinants of supply, Law of supply and Elasticity of Supply
5. Theory of Production and cost: Meaning and Factors of production; Laws of production- Law of variable proportions and Laws of returns to scale
6. Forms of Market and price determination in different markets: Various forms of markets-Perfect Competition, Monopoly, Monopolistic Competition and Oligopoly and Price determination in these markets
7. Indian Economy:
i) Nature of the Indian Economy Role of different sectors-Role of Agriculture, Industry and Services-their problems and growth;
ii) National Income of India-Concepts of national income, Different methods of measuring national income.
iii) Population- Its size, rate of growth and its implication on economic growth.
iv) Poverty and unemployment- Absolute and relative poverty, types, causes and incidence of unemployment
v) Infrastructure- Energy, Transportation, Communication
8. Economic Reforms in India: Economic reforms since 1991; Liberalisation, Privatisation, Globalisation and Disinvestment
9. Money and Banking:
i) Monetary/ Fiscal policy- Role and functions of Reserve Bank of India; functions of commercial Banks/ RRB/ Payment Banks
ii) Budget and Fiscal deficits and Balance of payments
iii) Fiscal Responsibility and Budget Management Act, 2003
10. Role of Information Technology in Governance
1. भारत के नियंत्रक और महा लेखापरीक्षक-सांविधानिक प्रावधान,
भूमिका और उत्तरदायित्व

2. वित्त आयोग-भूमिका एवं कार्य

3. अर्थशास्त्र की मूल अवधारणाएं तथा सूक्ष्म अर्थशास्त्र के बारे में
परिचय
– परिभाषा, अर्थशास्त्र का कार्यक्षेत्र तथा प्रकृति, अर्थशास्त्र अध्ययन की
पद्धतियां तथा अर्थव्यवस्था और उत्पादन सम्भावना वक्र की केन्द्रीय समस्याएं

4. मांग और पूर्ति का सिद्धांत-
मांग का अर्थ और निर्धारक तत्व, मांग का सिद्धांत और मांग कौ लोच, मूल्य, आय एवं तिर्यक लोच, उपभोक्ता के व्यवहार का सिद्धांत मार्शलियन प्रस्ताव तथा अनधिमान वक्र प्रस्ताव, पूर्ति का अर्थ और निर्धारक तत्व, पूर्ति का सिद्धान्त और पूर्ति की लोच।

5. उत्पादन और लागत का सिद्धान्त-
उत्पादन का अर्थ और कारक; उत्पादन के सिद्धांत – परिवर्तनीय समानुपातों के सिद्धांत एवं अनुमाप प्रतिवर्तन के सिद्धांत।

6. बाजार के प्रकार और विभिन्‍न बाजारों में मूल्य निर्धारण- बाजारों के विभिन प्रकार – आदर्श प्रतिस्पर्द्धा, एकाधिकार, एकाधिकारात्मक प्रतिस्पर्धा और अल्पाधिकार तथा इन बाजारों में मूल्य निर्धारणा
7. भारतीय अर्थव्यवस्था-
i) भारतीय अर्थव्यवस्था की प्रकृति, विभिन्न क्षेत्रों की भूमिका – कृषि, उद्योग और सेवाओं की भूमिका – उनकी समस्याएं और विकास।
ii) भारत की राष्ट्रीय आय – राष्ट्रीय आय की अवधारणाएं, राष्ट्रीय आय का मापन करने की विभिन्‍न पद्धतियां।
iii) जनसंख्या – इसका आकार, वृद्धि की दर और आर्थिक विकास पर इसका प्रभाव।
iv) गरीबी तथा बेरोजगारी-निरपेक्ष एवं सापेक्ष गरीबी, प्रकार, बेरोजगारी के कारण और प्रभाव
v) आधारिक संरचना – ऊर्जा, परिवहन, संचार

8. भारत में आर्थिक सुधार-
1991 से आर्थिक सुधार, उदारीकरण, निजीकरण, सार्वभौमीकरण और विनिवेश

9. धन और बैंकिंग:
i) मौद्रिक / राजकोषीय नीति- भारतीय रिजर्व बैंक की भूमिका और कार्य; वाणिज्यिक बैंकों / आरआरबी / भुगतान बैंकों के कार्य
ii) बजट और राजकोषीय घाटे और भुगतान संतुलन
iii) राजकोषीय उत्तरदायित्व और बजट प्रबंधन अधिनियम, 2003


10. शासन में सूचना प्रौद्योगिकी की भूमिका

यदि उपरोक्त जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया शेयर करना ना भूलें।

Leave a Comment

SSC CGL 2022 प्रारम्भिक परीक्षा की तैयारी कैसे करें SSC CGL Executive Assistant Salary, Job Profile और Promotion SSC CGL 2022 की तैयारी कैसे करें New Pension Scheme से बाहर निकलने की शर्तें