Previous Papers: अच्छे अंक के लिए कैसे करें इनको हल करने की practice

Previous Papers को हल करना उतना ही जरूरी है जितना कि sample papers को हल करना। यहाँ इस लेख में हमनें यही बताया है कि कैसे Previous Papers को हल करने की practice करें कि अधिक से अधिक आप अंक हासिल कर सकें।

Previous Papers को हल करने की प्रैक्टिस करना और भी महत्वपूर्ण तब होता है जब आप किसी MCQ वाले परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं।

क्योंकि आने वाले परीक्षाओं में कई ऐसे प्रश्न पूछे जाते हैं जो पहले पूछे गए प्रश्नों पर आधारित होते हैं। इसलिए आने वाले exams के लिए previous papers को हल करना बहुत जरूरी होता है।

लेकिन बहुत से छात्र previous papers की practice कुछ गलत तरीके से करते हैं जिससे उन्हें ज्यादा फायदा नहीं होता है।

यदि आप भी Previous Papers की प्रैक्टिस कुछ इसी तरह से कर रहे हैं तो आपको भी अपना तरीका बदलना पड़ेगा। नहीं तो Previous Papers को हल करने का कोई मतलब नहीं बनता है। 

हम इस लेख में इसी बात पर चर्चा करने वाले हैं कि Previous Papers की practice किस तरह से करें कि अधिक-से-अधिक लाभ हो और आप आने वाले exams में अच्छे अंक प्राप्त कर सकें।

Previous Papers को हल करने की practice कैसे करें-

Previous Papers की practice कैसे करें, इस बात पर चर्चा करने से पहले हम यह बताना चाहेंगे कि Previous Papers के लिए आप जो set लेना चाहते हैं उसकी क्या खासियत होनी चाहिए।

हमने नीचे इसी के बारे में बताया है जिनका ध्यान Previous Papers के set खरीदने से पहले जरूर रखें-

सबसे पहले कि Previous Papers का सेट एक अच्छे publication का होना चाहिए।

आजकल बाजार में बहुत सारे publication की किताबें मिल रही हैं। लेकिन इनकी छपाई में इतनी गलतियाँ होती हैं कि अगर आपने इनके Previous Papers का practice किया तो आपको बहुत नुकसान हो सकता है।

इसलिए आप किसी प्रचलित publication का ही सेट खरीदें जिनमें गलती होने की कम संभावना होती है।

Previous Papers का सेट खरीदने से पहले यह जरूर देखें कि प्रश्नों के उत्तर के बाद क्या उन्हें explain किया गया है।

आप explanation से यह समझ जाते हैं कि कैसे किसी प्रश्न का उत्तर प्राप्त किया गया है। साथ ही उस explanation में आपको कुछ नया जानने को भी मिलता है।

कुछ प्रकाशन year wise यानि कि वर्षवार previous papers का सेट प्रकाशित करते हैं।इनके सेट में हर साल के अलग-अलग paper होते हैं और ये एकदम परीक्षा में दिए जाने वाले papers की तरह ही होते हैं।

इसी तरह कुछ प्रकाशन chapter wise यानि अध्यायवार paper सेट देते हैं। इनके एक तरह के chapter में कई साल के प्रश्न दिए रहते हैं।

इसलिए आप अपनी सुविधानुसार देखकर previous papers का सेट खरीदें।

हम यहाँ यह सुझाव देना चाहते हैं कि आप दोनों तरह के previous papers का सेट खरीदें। इससे यह लाभ होगा कि जब आप कोई एक chapter अच्छी तरह से तैयार कर लेते हैं तो chapter wise दिए हुए previous papers के सेट को हल कर सकते हैं।

इसी तरह जब आप सभी chapters की तैयारी कर लेते हैं तो वर्षवार दिए हुते previous papers के सेट को हल करें।

तो यह रहे कुछ सुझाव जिन्हें previous papers का सेट खरीदने से पहले ध्यान में रखना चाहिए।

अब हम आपको बताते हैं कि previous papers को हल कैसे करें कि अधिक से अधिक लाभ हो।

शुरुआत में ही Previous Papers का सेट खरीद लें:

यह जरूरी नहीं है कि आप जब सभी chapters की तैयारी कर चुके हों तभी previous papers का सेट खरीदें।

हमारा सुझाव है कि जैसे ही आप किसी परीक्षा की तैयारी करने जाते हैं उसी समय इसे खरीद लें। फिर इसके प्रश्नों को ध्यान से देखें।

इससे यह पता चल जाएगा कि परीक्षा में किस तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं और कितने कठिन होते हैं। अब आप इन प्रश्नों के आधार पर ही तैयारी शुरू कर दें।

इस बात का ध्यान रखें कि परीक्षा में सफल होना है तो सबसे पहले यह जानें कि आपको क्या पढ़ना है और क्या छोड़ना है। सभी chapters आपके लिए महत्वपूर्ण नहीं होते हैं। इसका अंदाजा आपको previous papers देखकर आसानी से लग जाएगा।

आधी-अधूरी तैयारी के साथ Previous Papers का सेट हल ना करें:

जो अध्यायवार दिए हुए Previous papers का सेट है उसके किसी chapter को तभी हल करें जब आप उसको अच्छी तरह से पढ़ चुके हों।

आधी-अधूरी तैयारी के साथ हल करने पर अधिकतर प्रश्न गलत होंगे और आप अपनी तैयारी से हताश हो जाएंगे।

इसी तरह जब सभी chapter की पढ़ाई कर लें तो वर्षवार दिए हुए Previous papers के सेट को हल करें।  

एक वर्ष के paper को हल करने के बाद उत्तर में दिए गए explanation को अच्छी तरह से देखें। अगर explanation में आपको कुछ नया मिलता है तो उसे अपने notes में लिख लें और उसे भी याद कर लें।

Previous Papers को पहली बार में एक समय सीमा में हल करने की कोशिश ना करें:

किसी भी पेपर को पहली बार में एक समय सीमा में हल करने की कोशिश ना करें।

यदि वह paper दो घंटे का होता है तो जरूरी नहीं है कि उसे पहली बार दो घंटे में ही हल करने की कोशिश करें। कोई भी paper पहली बार हल करते समय आराम से हल करें और प्रश्नों से संबंधित पूरी जानकारी प्राप्त कर लें।

पहली बार प्रश्न पत्रों को हल करते समय कभी भी उस पर कोई निशान ना लगाएं। यानि दिए गए विकल्पों में से सही विकल्प पर निशान ना लगाएं।

जब आप दूसरी बार प्रश्न पत्रों को हल करें तो दिए हुए समय सीमा में हल करने की कोशिश करें।

ध्यान रहे जब आप प्रश्न पत्रों को हल कर रहे हों तो आपके पास पूरा समय होना चाहिए। आप उसी समय प्रश्न पत्रों को हल करें जब कोई और काम ना करने वाले हों।

इससे यदि आपको प्रश्न पत्र को हल करने में दो या तीन घंटे लगते भी हैं तो कोई दिक्कत नहीं होगी और एक साथ पूरा प्रश्न पत्र हल हो जाएगा।

यदि वह प्रश्न पत्र दो घंटे का है तो समय पूरा होते ही प्रश्न पत्र हल करना छोड़ दें। अब हल किए हुए प्रश्न पत्र में देखें कि आपने कितने अंक प्राप्त किए हैं।

इससे आपकी तैयारी का भी पता चल जाएगा और उसी के अनुसार आप आगे की तैयारी करेंगे। अंकों की गणना करने के बाद छूटे हुए प्रश्नों को हल करें और देखें कि आपसे वो क्यों नहीं हल हो पाए हैं।

Previous Paper को हल करते समय इस बात का भी ध्यान रखें कि जिस chapter से कभी-कभी ही प्रश्न पूछे जाते हैं उनके लिए अधिक समय ना दें नहीं तो महत्वपूर्ण chapter की भी तैयारी नहीं कर पाएंगे।

निष्कर्ष:

किसी भी परीक्षा की तैयारी के लिए Previous Papers भी बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। इनसे परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के स्तर के बारे में भी पता चलता है कि प्रश्न कितने कठिन या आसान होते हैं।

लेकिन Previous Papers को हल करने का भी एक तरीका होना चाहिए। यदि आप इन्हें बिना किसी strategy के हल करते हैं तो बहुत अधिक फायदा नहीं होगा।

हमनें उपरोक्त लेख में यही बताया है कि कैसे Previous Papers को हल करें कि अधिक से अधिक फायदा हो। यहाँ जो भी सुझाव दिए गए हैं वो हमारे लेखक के अपने हैं। इसलिए इनसे इतर सुझावों को अमल करके यदि आपको फायदा होता है तो उन्हें ही अपनाएं।  

Leave a Comment