UPPCS Syllabus in Hindi : Download PDF (2022)

UPPCS Syllabus in Hindi– हम इस लेख में उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) द्वारा निर्धारित UPPCS Syllabus in Hindi 2022 के बारे में बताने जा रहे हैं।

साथ ही आप UPPCS syllabus in Hindi pdf भी डाउनलोड कर सकते हैं जिसे हमनें हिन्दी में उपलब्ध कराया है।

किसी भी परीक्षा की अच्छी तैयारी करने के लिए उसके सिलेबस के बारे में भी पूरी जानकारी होना जरूरी होता है और यदि आप यूपीपीसीएस की तैयारी करने जा रहे हैं तो आपको UPPCS Syllabus के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए। इसीलिए हमनें यहाँ UPPSC Syllabus in Hindi के बारे में विस्तृत जानकारी दी है।

यदि आप भी UPPCS की तैयारी करना चाहते हैं तो हमारे द्वारा दिए गए UPPCS Syllabus in Hindi से आपको तैयारी करने में अच्छी मदद मिलेगी। आपको भी UPPCS Exam Syllabus और UPPCS Exam Pattern के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए।

हमनें यहाँ प्रारंभिक और मुख्य, दोनों परीक्षाओं के लिए UPPCS Syllabus in Hindi, 2022 उपलब्ध कराया है।

जब आप UPPCS Exam Syllabus और UPPCS Exam Pattern के बारे में सही जानकारी रखेंगे तो UPPSC PCS Exam की तैयारी के लिए बस सही स्ट्रैटिजी के साथ कुशलतापूर्वक पढ़ाई करने की जरूरत रहेगी।

हमनें यहाँ UPPSC syllabus pdf in Hindi को पीडीएफ़ फॉर्मैट में भी दिया है। आप अपने सुविधा के लिए इसे डाउनलोड करके अपने फोन में सुरक्षित रख सकते हैं। इसके लिए हमनें पीडीएफ़ डाउनलोड का विकल्प दिया है।

यदि आप और अच्छी तैयारी करना चाहते हैं तो आपको UPPCS Previous Papers का भी अवलोकन करना चाहिए। इससे अच्छी तैयारी करने में मदद मिलेगी।

CONTENTS Hide

UPPCS Syllabus in Hindi , 2022

UPPCS Syllabus in Hindi
UPPCS Syllabus in Hindi

जो अभ्यर्थी अभी नए हैं तो उन्हें हम बता दें कि UPPCS Full Form – Uttar Pradesh Public Service Commission होता है और UPPSC Full Form in Hindi – उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी)

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा जारी परीक्षा notification में ही UPPCS Prelims और UPPCS Mains का syllabus दिया रहता है।

जैसा कि आपको पता होगा कि UPPCS की परीक्षा तीन चरणों में आयोजित की जाती है। इनमें पहला चरण प्रारंभिक (prelims) परीक्षा, दूसरा चरण मुख्य (mains) परीक्षा और तीसरा चरण साक्षात्कार (interview) का होता है।

प्रारम्भिक परीक्षा का पेपर वस्तुनिष्ठ प्रकार का होता है जबकि मुख्य परीक्षा में Descriptive प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं।

यहाँ हमनें UPPCS Prelims Syllabus और UPPCS Mains syllabus के बारे में विस्तृत जानकारी दी है। सिलेबस को हिन्दी और इंग्लिश दोनों भाषाओं में उपलब्ध कराया गया है, जिससे टॉपिक को समझने में आसानी हो सके।

UPPCS Syllabus in Hindi 2022 – UPPCS Prelims Syllabus

UPPCS Prelims में वस्तुनिष्ठ प्रकार के बहुवैकल्पिक प्रश्न पूछे जाते हैं। इस परीक्षा में दो पेपर होते हैं और दोनों यूपीपीएससी प्रिलिम्स परीक्षा में General Studies (GS) के दो प्रश्नपत्र होते हैं।

UPPCS Prelims में भारतीय इतिहास, सामयिक घटनाक्रम, सामान्य भूगोल, सामान्य विज्ञान, Indian Polity, अर्थव्यवस्था, आदि जैसे विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं। इसके अलावा सामान्य गणित, सामान्य मानसिक योग्यता, हिंदी आदि से भी प्रश्न पूछे जाते हैं। UPPCS pre syllabus in Hindi विस्तृत रूप से इस प्रकार है-

UPPCS Prelims Syllabus – Paper-I

राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनायें – इस भाग में राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनायें यानि Current Affairs से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

भारत का इतिहास एवं भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन - भारत के इतिहास के अन्तर्गत अभ्यर्थियों को भारतीय इतिहास के सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक पक्षों की व्यापक जानकारी रखनी होगी जबकि भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन के अंतर्गत स्वतंत्रता आन्दोलन की प्रकृति तथा विशेषता, राष्ट्रवाद का अभ्युदय तथा स्वतंत्रता प्राप्ति से संबंधित सामान्य प्रश्न पूछे जाएंगे।

भारत एवं विश्व का भूगोल - भारत के भूगोल के अन्तर्गत देश के भौतिक, सामाजिक एवं आर्थिक भूगोल से सम्बन्धित प्रश्न पूछे जाएंगे। विश्व के भूगोल से संबंधित प्रश्न अभ्यर्थियों की केवल सामान्य जानकारी की परख करने के लिए पूछे जाएंगे।

भारतीय राजनीति एवं शासन - संविधान, राजनीतिक व्यवस्था, पंचायती राज, लोकनीति, अधिकार प्रकरण आदि: – भारतीय राज्य व्यवस्था, अर्थव्यवस्था एवं संस्कृति के अन्तर्गत देश के पंचायती राज तथा सामुदायिक विकास सहित राजनीतिक प्रणाली के ज्ञान तथा भारत की आर्थिक नीति के व्यापक लक्षणों एवं भारतीय संस्कृति की जानकारी पर प्रश्न होंगे।

आर्थिक एवं सामाजिक विकास - सतत विकास, गरीबी, अन्तर्विष्ट जनसांख्यिकीय, सामाजिक क्षेत्र के पहल आदि – इस भाग के अंतर्गत जनसंख्या, पर्यावरण तथा नगरीकरण की समस्याओं तथा उनसे संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे।

पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी, जैव-विविधता एवं जलवायु परिवर्तन - इस विषय में सामान्य जागरूकता संबंधी प्रश्न पूछे जाएंगे। अभ्यर्थियों को विषय विशेषज्ञता की आवश्यकता नहीं है।

सामान्य विज्ञान – सामान्य विज्ञान के प्रश्न दैनिक अनुभव तथा प्रेक्षण से सम्बन्धित विषयों सहित विज्ञान के सामान्य परिबोध एवं जानकारी पर आधारित होंगे, जिसकी किसी भी सुशिक्षित व्यक्ति से अपेक्षा की जा सकती है, जिसने वैज्ञानिक विषयों का विशेष अध्ययन नहीं किया है।

अभ्यर्थियों से यह अपेक्षित होगा कि उत्तर प्रदेश के विशेष परिप्रेक्ष्य में उपर्युक्त विषयों का उन्हें सामान्य परिचय हो।

UPPCS Prelims Syllabus – Paper-II

इस पेपर को CSAT (Civil Services Aptitude Test) के नाम से भी जानते हैं। इसलिए इस पेपर के सिलेबस को UPPCS CSAT Syllabus भी कह सकते हैं।

1. काम्प्रिहेन्सन (विस्तारीकरण)

2. अन्तर्वैयक्तिक क्षमता जिसमें सम्प्रेषण कौशल भी समाहित होगा।

3. तार्किक एवं विश्लेषणात्मक योग्यता।

4. निर्णय क्षमता एवं समस्या समाधान।

5. सामान्य बौद्धिक योग्यता।

6. प्रारम्भिक गणित – इस भाग में निम्नलिखित चैप्टर से हाईस्कूल स्तर तक के प्रश्न पूछे जाते हैं।

अंकगणित
(i) संख्या पद्धति: प्राकृतिक संख्यायें, पूर्णांक संख्यायें, परिमेय एवं अपरिमेय संख्यायें वास्तविक संख्यायें, पूर्णाक संख्याओं के विभाजक, अविभाज्य पूर्णाक संख्यायें, पूर्णाक संख्याओं का लघुत्तम समापवर्त्य (L.C.M.) एवं महत्तम समापवर्त्य (H.C.F)
(ii) औसत
(iii) अनुपात और समानुपात
(iv) प्रतिशत
(v) लाभ और हानि
(vi) साधारण ब्याज एवं चक्रवृद्धि ब्याज
(vii) कार्य और समय।
(viii) चाल, समय और दूरी

बीजगणित
(i) बहुपद के गुणनखण्ड, बहुपदों का लघुत्तम समापवर्त्य एवं महत्तम समापवर्त्य एवं उनमें सम्बन्ध, शेषफल प्रमेय, सरल युगपत समीकरण, द्विघात समीकरण

(ii) समुच्चय सिद्धान्त: समुच्चय, उप समुच्चय, उचित उपसमुच्चय, रिक्त समुच्चय, समुच्चयों के बीच संक्रियायें (संघ, प्रतिछेद, अन्तर, समिमित अन्तर), वेन-आरेख

रेखागणित
(i) त्रिभुज, आयत, वर्ग, समलम्ब चतुर्भुज एवं वृत्त की रचना एवं उनके गुण सम्बन्धी प्रमेय तथा परिमाप एवं उनके क्षेत्रफल; 

(ii) गोला, समकोणीय वृत्ताकार बेलन, समकोणीय वृत्ताकार शंकु तथा धन के आयतन एवं पृष्ठ क्षेत्रफल।

सांख्यिकी 
आंकड़ों (डेटा) का संग्रह, आंकड़ों का वर्गीकरण, बारम्बारता, बारम्बारता बंटन, सारणीयन, संचयी बारम्बारता, आंकड़ों का निरूपण, दण्डचार्ट, पाई चार्ट, आयत चित्र, बारम्बारता बहुभुज, संचयी बारम्बारता, वक्र, केन्द्रीय प्रवृत्ति की माप- समान्तर माध्य, माध्यिका एवं बहुलक।

7. सामान्य अंग्रेजी (हाईस्कूल स्तर तक)

i) Comprehension
ii) Active Voice and Passive Voice
iii) Parts of Speech
iv) Transformation of Sentences
v) Direct and Indirect Speech
vi) Punctuation and Spellings
vii) Words meanings
viii) Vocabulary & Usage
ix) Idioms and Phrases
x) Fill in the Blanks

8. सामान्य हिन्दी हाईस्कूल स्तर तक।

सामान्य हिन्दी (हाईस्कूल स्तर तक) के पाठ्यक्रम में सम्मिलित किये जाने वाले विषय

i) हिन्दी वर्णमाला, विराम चिन्ह
ii) शब्द रचना, वाक्य रचना, अर्थ
iii) शब्द-रूप
iv) संधि, समास
v) क्रियायें
vi) अनेकार्थी शब्द
vii) विलोम शब्द
viii) पर्यायवाची शब्द
ix) मुहावरे एवं लोकोक्तियां
x) तत्सम एवं तद्‌भव, देशज, विदेशी (शब्द भंडार)
xi) वर्तनी
xii) अर्थवोध
xiii) हिन्दी भाषा के प्रयोग में होने वाली अशुद्धियाँ
xiv) उ0प्र० की मुख्य बोलियाँ

UPPCS Syllabus in Hindi 2022 – UPPCS Mains Syllabus

पेपरविवरणअंक
1जनरल हिंदी150
2निबंध150
3सामान्य अध्ययन- I200
4सामान्य अध्ययन –II200
5सामान्य अध्ययन –III200
6सामान्य अध्ययन –IV200
7वैकल्पिक विषय – पेपर 1200
8वैकल्पिक विषय – पेपर 2200

जैसा कि पहले ही बताया है कि यूपी पीसीएस मुख्य परीक्षा Descriptive प्रकार की होती है। यानि इसमें उत्तर विस्तार से लिखने होते हैं।

यूपीपीएससी पीसीएस मेन्स परीक्षा में कुल आठ पेपर होते हैं। इनमें पहला पेपर सामान्य हिन्दी, दूसरा पेपर निबंध, तीसरे से छठवें तक सामान्य अध्ययन, सातवाँ और आठवाँ पेपर वैकल्पिक विषयों के होते हैं।

UPPCS mains syllabus in Hindi के बारे में विस्तृत जानकारी नीचे दी गई है-

UPPCS Mains Syllabus : Paper-I – सामान्य हिन्दी

• दिये हुए गद्य खण्ड का अवबोध एवं प्रश्नोत्तर।
• संक्षेपण।
• सरकारी एवं अर्ध-सरकारी पत्र लेखन, तार लेखन, कार्यालय आदेश, अधिसूचना, परिपत्र।
• शब्द ज्ञान एवं प्रयोग।
• उपसर्ग एवं प्रत्यय प्रयोग,
• विलोम शब्द,
• वाक्यांश के लिए एकशब्द,
• वर्तनी एवं वाक्य शुद्धि,
• लोकोक्ति एवं मुहावरे।

UPPCS Mains Syllabus : Paper – 2- निबंध

इस प्रश्न पत्र में अभ्यर्थियों को तीन निबंध लिखने होते हैं। यानि इसमें तीन खंड होते हैं और प्रत्येक खंड से एक-एक विषय पर लगभग 700 शब्दों में तीन निबंध लिखने होंगे। तीनों खंडों में निम्नलिखित विषयों पर आधारित प्रश्न पूछे जाएंगे और छात्रों को उनपर एक-एक निबंध लिखना होता है।

खंड (क) : i) साहित्य और संस्कृति ii) सामाजिक क्षेत्र और iii) राजनैतिक क्षेत्र ।
खंड (ख) : i) विज्ञान, पर्यावरण और प्रौद्योगिकी ii) आर्थिक क्षेत्र और iii) कृषि, उद्योग एवं व्यापार।
खंड (ग) : i) राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय घटनाक्रम ii) प्राकृतिक आपदाएं, भू-स्खलन, भूकंप, बाढ़, सूखा आदि और iii) राष्ट्रीय विकास कार्यक्रम एवं परियोजनाएँ।

UPPCS Mains Syllabus : Paper-3 – सामान्य अध्ययन- I

1. भारतीय संस्कृति के इतिहास में प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के कला प्रारूप, साहित्य एवं वास्तुकला के महत्वपूर्ण पहलू।

2. आधुनिक भारतीय इतिहास (1757 ई0 से 1947 ई0 तक) - महत्वपूर्ण घटनाएं, व्यक्तित्व एवं समस्याएं इत्यादि।

3. स्वतंत्रता संग्राम- इसके विभिन्‍न चरण और देश के विभिन्‍न भागों से इसमें अपना योगदान देने वाले महत्वपूर्ण व्यक्ति और उनका योगदान।

4. स्वतंत्रता के पश्चात्‌ देश के अंदर एकीकरण और पुनर्गठन (1965 ई0 तक)।

5. विश्व के इतिहास में 8 वीं सदी से बीसवीं सदी के मध्य तक की घटनाएं जैसे फ्रांसीसी क्रान्ति 1789, औद्योगिक क्रांति, विश्व युद्ध, राष्ट्रीय सीमाओं का पुनः सीमांकन, उपनिवेशवाद, उपनिवेशवाद की समाप्ति, राजनीतिक दर्शन शास्त्र जैसे साम्यवाद, पूँजीवाद, समाजवाद, नाजीवाद, फासीवाद इत्यादि के रूप और समाज पर उनके प्रभाव इत्यादि शामिल होंगें।

6. भारतीय समाज और संस्कृति की मुख्य विशेषताएं।

7. महिलाओं की समाज और महिला-संगठनों में भूमिका, जनसंख्या तथा सम्बद्ध समस्याएं, गरीबी और विकासात्मक विषय, शहरीकरण, उनकी समस्याएं और उनके रक्षोपाय।
 
8. उदारीकरण, निजीकरण और वैश्वीकरण का अभिप्राय और उनका भारतीय समाज के अर्थ व्यवस्था, राज्य व्यवस्था और समाज संरचना पर प्रभाव।

9. सामाजिक सशक्तीकरण, साम्प्रदायिकता, क्षेत्रवाद और धर्मनिरपेक्षता

10. विश्व के प्रमुख प्राकृतिक संसाधनों का वितरण- जल, मिट्टियाँ एवं वन, दक्षिण एवं दक्षिण पूर्व एशिया में (भारत के विशेष संदर्भ में)। 

11. भौतिक भूगोल की प्रमुख विशिष्टताएं- भूकंप, सुनामी, ज्वालामुखी क्रियाएँ, चक्रवात, समुद्री जल धाराएं . पवन एवं हिम सरिताएं।

12. भारत के सामुद्रिक संसाधन एवं उनकी संभाव्यता।

13. मानव प्रवास- विश्व की शरणार्थी समस्या - भारत-उपमहाद्वीप के संदर्भ में।

14. सीमान्त तथा सीमांए - भारत उप-महाद्वीप के संदर्भ में।

15. जनसंख्या एवं अधिवास- प्रकार एवं प्रतिरूप, नगरीकरण, स्मार्ट नगर एवं स्मार्ट ग्राम

16. उत्तर प्रदेश के इतिहास, संस्कृति, कला, साहित्य, वास्तुकला, त्योहार, लोक-नृत्य साहित्य, प्रादेशिक भाषाएं, धरोहरें, सामाजिक रीति-रिवाज एवं पर्यटन के बारे में विशेष ज्ञान जरूरी है।

17. उत्तर प्रदेश के भूगोल जैसे मानव एवं प्राकृतिक संसाधन, जलवायु, मिट्टियॉं, वन वन्य-जीव, खदान और खनिज, सिंचाई के स्रोत आदि के बारे में विशेष ज्ञान।

UPPCS Mains Syllabus : Paper-4 – सामान्य अध्ययन- II

1. भारतीय संविधान- ऐतिहासिक आधार, विकास, विशेषताएं, संशोधन, महत्वपूर्ण प्रावधान तथा आधारभूत संरचना। संविधान के आधारभूत प्रावधानों के विकास में उच्चतम न्यायालय की भूमिका। 

2. संघ एवं राज्यों के कार्य तथा उत्तरदायित्व, संघीय ढांचे से संबंधित विषय एवं चुनौतियां, स्थानीय स्तर पर शक्तियों और वित्त का हस्तांतरण और उसकी चुनौतियां।

3. केन्द्र-राज्य वित्तीय सम्बन्धों में वित्त आयोग की भूमिका। 

4. शक्तियों का पृथक्करण, विवाद निवारण तंत्र तथा संस्थाएं। वैकल्पिक विवाद निवारण तंत्रों का उदय एवं उनका प्रयोग। 

5. भारतीय संवैधानिक योजना की अन्य प्रमुख लोकतांत्रिक देशों के साथ तुलना।

6. संसद और राज्य विधायिका- संरचना, कार्य, कार्य-संचालन, शक्तियाँ एवं विशेषाधिकार तथा संबंधित विषय।
 
7. कार्यपालिका और न्यायपालिका की संरचना, संगठन और कार्य- सरकार के मंत्रालय एवं विभाग, प्रभावक समूह और औपचारिक / अनौपचारिक संघ तथा शासन प्रणाली में उनकी भूमिका। जनहित वाद (पी0आई0एल0०)।

8. जन प्रतिनिधित्व अधिनियम की मुख्य विशेषताएं।

9. विभिन्‍न संवैधानिक पदों पर नियुक्ति, शक्तियाँ, कार्य तथा उनके उत्तरदायित्व

10. सांविधिक, विनियामक और विभिन्‍न अर्ध-न्यायिक निकाय, नीति आयोग समेत- उनकी विशेषताएं एवं कार्यभाग।

11. सरकारी नीतियों और विभिन्‍न क्षेत्रों में विकास के लिए हस्तक्षेप, उनके अभिकल्पन तथा कार्यान्वयन के कारण उत्पन्न विषय एवं सूचना संचार प्रौद्योगिकी (आई0सी0टी0)।

12. विकास प्रक्रियाएं-गैर सरकारी सगंठनों की भूमिका, स्वयं सहायता समूह, विभिन्‍न समूह एवं संघ, अभिदाता, सहायतार्थ संस्थाएं, संस्थागत एवं अन्य अंशधारक

13. केन्द्र एवं राज्यों द्वारा जनसंख्या के अति संवेदनशील वर्गों के लिए कल्याणकारी योजनाएं और इन योजनाओं का कार्य- निष्पादन, इन अति संवेदनशील वर्गो की रक्षा एवं बेहतरी के लिए गठित तंत्र, विधि, संस्थान एवं निकाय।

14. स्वास्थ्य, शिक्षा, मानव संसाधनों से संबंधित सामाजिक क्षेत्र,// सेवाओं के विकास एवं प्रबंधन से संबधित विषय।

15. गरीबी और भूख से संबंधित विषय एवं राजनैतिक व्यवस्था के लिए इनका निहितार्थ।
 
16. शासन व्यवस्था, पारदर्शिता और जवाबदेही के महत्वपूर्ण पक्ष; ई-गवर्नेस के अनुप्रयोग, मॉडल, सफलताएं, सीमाएं और संभावनाएं; नागरिक चार्टर, पारदर्शिता एवं जवाबदेही और संस्थागत व अन्य उपाय।

17. लोकतंत्र में उभरती हुई प्रवृत्तियों के संदर्भ में सिविल सेवाओं की भूमिका।
 
18. भारत एवं अपने पड़ोसी देशों से उसके संबंध। 

19. द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक समूह और भारत से संबंधित और / अथवा भारत के हितों को प्रभावित करने वाले करार।

20. भारत के हितों एवं अप्रवासी भारतीयों पर विकसित तथा विकासशील देशों की नीतियों तथा राजनीति का प्रभाव।

21. महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थान, संस्थाएं और मंच- उनकी संरचना, अधिदेश तथा उनका कार्य भाग।
 
22. उत्तर प्रदेश के राजनैतिक, प्रशासनिक, राजस्व एवं न्यायिक व्यवस्थाओं की विशिष्ट जानकारी।
 
23.	क्षेत्रीय, प्रान्तीय, राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय महत्व के समसामयिक घटनाक्रम।

UPPCS Mains Syllabus : Paper-5 – सामान्य अध्ययन- III

1. भारत में आर्थिक नियोजन, उद्देश्य एवं उपलब्धियाँ, नीति (एन0आई0टी0आई0) आयोग की भूमिका, संपोषणीय विकास के लक्ष्य, एस0डी0जी0 की प्राप्ति के प्रयास।

2. गरीबी के मुद्दे, बेरोजगारी, सामाजिक न्याय एवं समावेशी संवृद्धि। 

3. सरकार के बजट के अवयव तथा वित्तीय प्रणाली। 

4. प्रमुख फसलें, विभिन्‍न प्रकार की सिंचाई विधि एवं सिंचाई प्रणाली, कृषि उत्पाद का भंडारण, दुलाई एवं विपणन, किसानों की सहायता हेतु ई-तकनीकी। 

5. अप्रत्यक्ष एवं प्रत्यक्ष कृषि सहायकी तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य से जुड़े मुद्दे, सार्वजनिक वितरण प्रणाली-उद्देश्य, क्रियान्वयन, परिसीमाएं, सुदृढ़ीकरण खाद्य सुरक्षा एवं बफर भण्डार, कृषि सम्बन्धित तकनीकी अभियान टेक्नालाजी मिशन।

6. भारत में खाद्‌य प्रसंस्करण व संबंधित उद्योग-कार्यक्षेत्र एवं महत्व, स्थान निर्धारण, उर्घ्व व अधोप्रवाह आवश्यकताएं, आपूर्ति श्रृखंला प्रबंधन। 

7. भारत में स्वतंत्रता के पश्चात्‌ भूमि सुधार।

8. भारत में वैश्वीकरण तथा उदारीकरण के प्रभाव, औद्योगिक नीति में परिवर्तन तथा इनके औद्योगिक संवृद्धि पर प्रभाव।

9. आधारभूत संरचना: ऊर्जा, बंदरगाह, सड़क, विमानपत्तन तथा रेलवे आदि।
 
10. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी-विकास एवं अनुप्रयोग (दैनिक जीवन एवं राष्ट्रीय सुरक्षा में, भारत की विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी नीति)।

11. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में भारतीयों की उपलब्धियां, प्रौद्योगिकी का देशजीकरण। नवीन प्रौद्योगिकियों का विकास, प्रौद्योगिकी का हस्तान्तरण, द्विअनुप्रयोगी एवं क्रान्तिक अनुप्रयोग प्रौद्योगिकियाँ। 

12. सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी, कम्प्यूटर, ऊर्जा स्त्रोतों, नैनो प्रौद्योगिकी, सूक्ष्म जीव विज्ञान, जैव प्रौद्योगिकी क्षेत्र में जागरूकता। बौद्धिक सम्पदा अधिकारों एवं डिजिटल अधिकारों से सम्बन्धित मुद्दे।

13. पर्यावरणीय सुरक्षा एवं पारिस्थितिकी तंत्र, वन्य जीवन संरक्षण, जैव विविधता, पर्यावरणीय प्रदूषण एवं क्षरण, पर्यावरणीय संघात आंकलन।

14. आपदा: गैर-पारम्परिक सुरक्षा एवं संरक्षा की चुनौती के रूप में, आपदा उपशमन एवं प्रबन्धन 

15. अन्तर्राष्ट्रीय सुरक्षा की चुनौतियाः आणुविक प्रसार के मुद्दे, अतिवाद के कारण तथा प्रसार, संचार तंत्र, मीडिया की भूमिका तथा सामाजिक तन्‍त्रीयता, साइबर सुरक्षा के आधार, मनी लाउन्डरिंग तथा मानव तस्करी। 

16. भारत की आन्तरिक सुरक्षा की चुनौतियां: आतंकवाद, भ्रष्टाचार, प्रतिविद्रोह तथा संगठित अपराध। 

17. सुरक्षा बलों की भूमिका, प्रकार तथा शासनाधिकार, भारत का उच्च रक्षा संगठन।

18. उत्तर प्रदेश के आर्थिक परिदृष्य का विशिष्ट ज्ञान:- उत्तर प्रदेश की अर्थ व्यवस्था का सामान्य विवरण, राज्य के बजट। कृषि, उद्योग, आधारभूत संरचना एवं भौतिक संसाधनों का महत्व | मानव संसाधन एवं कौशल विकास, सरकार के कार्यक्रम एवं कल्याणकारी योजनाएं।

19. कृषि, बागवानी, वानिकी एवं पशुपालन के मुद्दे।

20. उत्तर प्रदेश के विशेष संदर्भ में कानून एवं व्यवस्था और नागरिक सुरक्षा।

UPPCS Mains Syllabus : Paper-6 – सामान्य अध्ययन- IV(नीति शास्त्र)

नीति शास्त्र का पेपर हाल ही में शुरू किया गया है। यह पेपर परीक्षार्थियों के नैतिक चरित्र का आकलन करने के लिए बनाया गया था। इस पेपर के अंतर्गत आने वाले विषयों की सूची इस प्रकार है।

1. नीतिशास्त्र तथा मानवीय अन्त: सम्बन्ध, मानवीय क्रियाकलापों में नीतिशास्त्र का सारतत्व, इसके निर्धारक और परिणाम : नीतिशास्त्र के आयाम, निजी और सार्वजनिक संबंधों में नीतिशास्त्र। मानवीय मूल्य-महान नेताओं, सुधारकों और प्रशासकों के जीवन तथा उनके उपदेशों से शिक्षा, मूल्य विकसित करने में परिवार, समाज और शैक्षणिक संस्थाओं की भूमिका।

2. अभिवृत्ति : अंतर्वस्तु, संरचना, कार्य, विचार तथा आचरण के परिप्रेक्ष्य में इसका प्रभाव एवं संबंध, नैतिक और राजनीतिक अभिरूचि, सामाजिक प्रभाव और सहमति पैदा करना।

3. सिविल सेवा के लिए अभिरूचि तथा बुनियादी मूल्य, सत्यनिष्ठा, निष्पक्षता तथा गैर- तरफदारी, वस्तुनिष्ठता, सार्वजनिक सेवा के प्रति समर्पण भाव, कमजोर वर्गों के प्रति सहानुभूति, सहिष्णुता तथा करूणा

4. संवेगात्मक बुद्धि: अवधारणाएं तथा आयाम, प्रशासन और शासन व्यवस्था में उनकी उपयोगिता और प्रयोग

5. भारत तथा विश्व के नैतिक विचारकों तथा दार्शनिकों का योगदान।

6. लोक प्रशासनों में लोक / सिविल सेवा मूल्य तथा नीतिशास्त्र : स्थिति तथा समस्याएं, सरकारी तथा निजी संस्थानों में नैतिक सरोकार तथा दुविधाएं, नैतिक मार्गदर्शन के स्त्रोतों के रूप में विधि, नियम, नियमन तथा अंतर्रात्मा, जवाबदेही तथा नैतिक शासन व्यवस्था में नैतिक मूल्यों का सुदृढ़ीकरण, अंतर्राष्ट्रीय संबंधों तथा निधि व्यवस्था (फंडिग) में नैतिक मुद्दे, कारपोरेट शासन व्यवस्था।

7. शासन व्यवस्था में ईमानदारी: लोक सेवा की अवधारणा, शासन व्यवस्था और ईमानदारी का दार्शनिक आधार, सरकार में सूचना का आदान-प्रदान और पारदर्शिता, सूचना का अधिकार, नीतिपरक आचार संहिता, आचरण संहिता, नागरिक घोषणा पत्र, कार्य संस्कृति, सेवा प्रदान करने की गुणवत्ता, लोक-निधि का उपयोग, भ्रष्टाचार की चुनौतियां।

8. उपर्युक्त विषयों पर मामला संबंधी अध्ययन (केस स्टडी)।

UPPSC Syllabus pdf in Hindi

ऊपर बताए गए UPPCS Syllabus in Hindi pdf को नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते हैं –

UPPCS Syllabus in Hindi के अलावा यहाँ हम UPPCS Syllabus in English भी दे रहे हैं। क्योंकि कभी-कभी किसी चैप्टर के नाम को हिन्दी में समझना कठिन होता है।

इसलिए हमारे द्वारा यहाँ दिए जा रहे UPPCS Syllabus in English से आपको आसानी होगी।

UPPCS Syllabus in English

UPPCS Preliminary Syllabus – Paper-I

General Studies-I

Current events of national and international importance- On Current Events of National and International Importance, candidates will be expected to have knowledge about them.

History of India & Indian National Movement: - In History emphasis should be on broad understanding social, economic and political aspects of Indian History. In the Indian National Movement, the candidates are expected to have synoptic view of nature and character of the freedom movement, growth of nationalism and attainment of Independence.

India and World Geography - Physical, Social, Economic geography of India and the World: In World Geography only general understanding of the subject will be expected. Questions on the Geography of India will relate to Physical, Social & Economic Geography of India.

Indian Polity and Governance - Constitution, Political System, Panchayati Raj, Public Policy, Rights Issues, etc.: - In Indian Polity, Economic and Culture, questions will test knowledge of country's political system including Panchayati Raj and Community Development, broad features of Economic policy in India and Indian Culture.

Economic and Social Development - Sustainable Development, Poverty, Inclusion, Demographics, Social Sector Initiatives, etc.: - The candidates will be tested with respect to problems and relationship between Population, Environment and Urbanization.
 General issues on Environmental ecology, Bio-diversity and Climate Change - that do not
 require subject specialization, General awareness of the subject is expected from candidates.

General Science: - Questions on General Science will cover general appreciation and understanding of Science including matters of every day observation and experience, as may be expected of a well-educated person, who has not made a special study of any scientific discipline.

Note:- Candidates are expected to have general awareness about the above subjects with
special reference to Uttar Pradesh.

UPPCS Preliminary Syllabus – Paper-II

General Studies-II

• Comprehension.
• Interpersonal skills including communication skills.
• Logical reasoning and analytical ability.
• Decision making and problem solving.
• General mental ability
• Elementary Mathematics (Upto Class X Level)

Arithmetic: - (i) Number systems: Natural Numbers, Integers, Rational and Irrational numbers, Real numbers, Divisors of an Integer, prime Integers, L.C.M. and H.C.F. of integers and their Interrelationship. (ii) Average (iii) Ratio and proportion (iv) Percentage (v) Profit and Loss (vi) Simple and Compound Interests (vii) Work and Time (viii) Speed, Time and Distance

Algebra: - (i) Factors of polynomials, L.C.M. and H.C.F. of polynomials and their Interrelationship, Remainder theorem, simultaneous linear equations, quadratic equations. (ii) Set Theory: - Set, null set, subsets and proper subsets of a set, operations (Union, Intersections, difference, symmetric difference) between sets, venn diagram.

Geometry: - (i) Constructions and theorems regarding triangle, rectangle, square, trapezium and circles, their perimeter and area. (ii) Volume and surface area of sphere, right circular cylinder, right circular Cone and Cube. 

Statistics: - Collection of data, Classification of data, frequency, frequency distribution, tabulation, cumulative frequency. Representation of data - Bar diagram, Pie chart, histogram, frequency polygon, cumulative frequency curves (ogives), Measures of Central tendency: Arithmetic Mean, Median and Mode.

• General English Upto Class X Level
1. Comprehension
2. Active Voice and Passive Voice
3. Parts of Speech
4. Transformation of Sentences
5. Direct and Indirect Speech
6. Punctuation and Spellings
7. Words meanings
8. Vocabulary & Usage
9. Idioms and Phrases
10. Fill in the Blanks

• General Hindi upto Class X level.

UPPCS syllabus in English 2022 – UPPCS Mains Syllabus

As already mentioned that the UP PCS Main exam is of Descriptive type. That is, the answer has to be written in detail in it.

There are total eight papers in the UPPSC PCS Mains exam. In these, the first paper is General Hindi, the second paper is essay, third to sixth general studies, seventh and eighth paper are of optional subjects.

The detailed information about the UPPSC PCS Mains Syllabus is given below-

UPPCS Mains Syllabus Paper-I – General Hindi

• दिये हुए गद्य खण्ड का अवबोध एवं प्रश्नोत्तर।
• संक्षेपण।
• सरकारी एवं अर्ध-सरकारी पत्र लेखन, तार लेखन, कार्यालय आदेश, अधिसूचना, परिपत्र।
• शब्द ज्ञान एवं प्रयोग।
• उपसर्ग एवं प्रत्यय प्रयोग,
• विलोम शब्द,
• वाक्यांश के लिए एकशब्द,
• वर्तनी एवं वाक्य शुद्धि,
• लोकोक्ति एवं मुहावरे।

UPPCS Mains Syllabus Paper-II – ESSAY

There will be three sections in the question paper of Essay. Candidates will have to select one topic from each section and they are required to write essay in 700 words on each topic. In the three sections, topics of essay will be based on following sphere:

Section A: (1) Literature and Culture. (2) Social sphere. (3) Political sphere.

Section B: (1) Science, Environment and Technology. (2) Economic Sphere (3) Agriculture, Industry and Trade.

Section C: (1) National and International Events. (2) Natural Calamities, Land slide, Earthquake, Deluge, Drought etc. (3) National Development programmes and projects.

UPPCS Mains Syllabus Paper-III – GENERAL STUDIES-I

1. History of Indian Culture will cover the salient aspects of Art Forms, literature and Architecture from ancient to modern times.

2. Modern Indian history (from A.D.1757 to A.D. 1947): Significant events, personalities and issues, etc.

3. The Freedom Struggle- its various stages and important contributors/contributions from different parts of the country.

4. Post-independence consolidation and reorganization within the country (till 1965A.D.)

5. History of the world will include events from 18 century to middle of the 20 century such as French revolution of 1789, industrial revolution, World Wars, redraw of national boundaries, Socialism, Nazism, Fascism etc-their forms and effect on the society.

6. Salient features of Indian Society and culture.

7. Role of Women in society and women's organization, population and associated issues, poverty and developmental issues, urbanization, their problems and their remedies.

8. Meaning of liberalization, privatization and globalization and their effects on economy,
polity and social structure.

9. Social empowerment, communalism, regionalism & secularism.

10. Distribution of major natural resources of World- Water, Soils, Forests in reference to South and South-East Asia with special reference to India. Factors responsible for the location of industries (with special reference to India).

11. Salient features of Physical Geography- Earthquake, Tsunami, Volcanic activity, Cyclone, Ocean Currents, winds and glaciers.

12. Oceanic resources of India and their potential.

13. Human migration-refugee problem of the World with focus on India.

14. Frontiers and boundaries with reference to Indian sub-continent.

15. Population and Settlements- Types and Patterns, Urbanization, Smart Cities and Smart Villages.

16. Specific knowledge of Uttar Pradesh – History, Culture, Art, Architecture, Festival, Folk-Dance, Literature, Regional Languages, Heritage, Social Customs and Tourism.

17. Specific knowledge of U.P.- Geography- Human and Natural Resources, Climate, Soils, Forest, Wild-Life, Mines and Minerals, Sources of Irrigation.

UPPCS Mains Syllabus Paper-IV – GENERAL STUDIES-II

1. Indian Constitution- historical underpinnings, evolution, features, amendments, significant provisions and basis structure, Role of Supreme Court in evolution of basic provisions of Constitution.

2. Functions and responsibilities of the Union and the States: issues and challenges pertaining to the federal structure, devolution of powers and finances up to local levels and challenges therein.

3. Role of Finance Commission in Centre- State financial relations.

4. Separation of powers, dispute redressal mechanisms and institutions. Emergence and use of alternative dispute redressal mechanisms.

5. Comparison of the Indian constitutional scheme with that of other major democratic countries.

6. Parliament and State legislatures- structure, functioning, conduct of business, powers and privileges and concerned issues.

7. Structure, organization and functioning of the Executive and the Judiciary: Ministries and Departments of the Government, Pressure groups and formal/informal associations and their role in the Polity. Public Interest Litigation (PIL).

8. Salient features of the Representation of People's Act.

9. Appointment to various Constitutional posts, Powers, functions and their responsibilities.

10. Statutory, regulatory and various quasi-judicial bodies including NITI Aayog, their features and functioning.

11. Government policies and interventions for development in various sectors and issues arising out of their design, implementation and Information Communication Technology (ICT).

12. Development processes- the role of Non-Governmental Organizations (NGOs), Self Help Groups (SHGs), various groups and associations, donors, charities, institutional and other stakeholders.

13. Welfare schemes for vulnerable sections of the population by the Centre and States and the performance of these schemes, mechanisms, laws, institutions and Bodies constituted for the protection and betterment of these vulnerable sections.

14. Issues relating to development and management of Social Sector/Services relating to Health, Education, Human Resources.

15. Issues relating to poverty and hunger, their implication on body politic.

16. Important aspects of governance. Transparency and accountability, e-governance applications, models, successes, limitations, and potential, citizens, charters and institutional measures.

17. Role of Civil Services in a democracy in the context of emerging trends.

18. India and its relationship with neighbouring Countries.

19. Bilateral, Regional and Global groupings and agreements involving India and/ or affecting India's interest.

20. Effect of policies and politics of developed and developing countries on India's interests- Indian diaspora.

21. Important International Institutions, Agencies their structure, mandate and functioning.

22.	Specific knowledge of Uttar Pradesh regarding Political, Administrative, Revenue and Judicial System.

23.	Current affairs and events of Regional, State, National and International importance.

UPPCS Mains Syllabus Paper-V – GENERAL STUDIES-III

1.	Economic planning in India, objectives and achievements. Role of NITI Aayog, Pursuit of Sustainable Development Goals (SDG's).

2.	Issues of Poverty, Unemployment, Social justice and inclusive growth.

3.	Components of Government Budgets and Financial System.

4.	Major Crops, Different types of irrigation and irrigation systems, storage, transport and marketing of agricultural produce, e-technology in the aid of farmers.

5.	Issues related to direct and indirect farm subsidies and minimum support prices, Public Distribution System- objectives, functioning, Limitations, revamping, issues of buffer stocks and food security, Technology missions in agriculture.

6.	Food processing and related industries in India- scope and significance, location, upstream and downstream requirements, supply chain management.

7.	Land reforms in India since independence.

8.	Effects of liberalization and globalization on the economy, changes in industrial policy and their effects on industrial growth.

9.	Infrastructure: Energy, Ports, Roads, Airports, Railways etc.

10.	Science and Technology-developments and applications in everyday life and in National Security, India's Science and Technology policy.

11.	Achievements of Indians in science & technology, indigenization of technology. Developments of New technologies, transfer of technology, dual and critical use technologies.

12.	Awareness in the fields of Information and Communication Technology (ICT) and Space Technology, Computers, Energy resources, nano- technology, microbiology, bio- technology. Issues relating to intellectual property rights (IPR), and digital rights.

13.	Environmental security and Ecosystems, Conservation of Wild life, Biodiversity, Environmental pollution and degradation, environmental impact assessment,

14.	Disaster as a Non-traditional security and safety challenge, disaster mitigation and management.

15.	Challenges of International Security: Issues of Nuclear proliferation, Causes and spread of extremism, Communication networks, role of media and social networking, Basics of cyber security, money laundering and human trafficking.

16.	India's internal security challenges: Terrorism, corruption, insurgency and organized crimes.

17.	Role, kind and mandate of security forces, Higher defense organizations in India

18.	Specific knowledge of Uttar Pradesh Economy: - Overview of UP Economy: State Budgets. Importance of Agriculture, Industry, Infrastructure and physical resources. Human Resources and Skill development. Government Programmes and Welfare Schemes.

19.	Issues in Agriculture, Horticulture, Forestry and Animal Husbandry. 

20.	Law and Order and Civil Defence with special reference to U.P.

UPPCS Mains Syllabus Paper-VI – GENERAL STUDIES-IV

* Ethics and Human Interface: Essence, determinants and consequences of ethics in human action, dimensions of ethics, ethics in private and public relationships. Human Values-lessons from the lives and teachings of great leaders, reformers and administrators, role of family, society and educational institutions in inculcating values.

* Attitude: Content, structure, function, its influence and relation with thought and behaviour, moral and political attitudes, social influence and persuasion.

* Aptitude and foundational values for Civil Service, integrity, impartiality and non-partisanship, objectivity, dedication to public services, empathy, tolerance and compassion towards the weaker-sections.

* Emotional Intelligence- concept and dimensions, its utility and application in administration and governance.

* Contributions of moral thinkers and philosophers from India and world.

* Public/Civil Service values and ethics in Public Administration: status and problems, ethical concerns and dilemmas in government and private institutions, laws, rules, regulations and conscience as sources of ethical guidance, accountability and ethical governance, strengthening of moral values in governance, ethical issues in international relations and funding, corporate governance.

* Probity in Governance: concept of public service, philosophical basis of governance and probity, information sharing and transparency in government. Right to Information, codes of ethics, codes of conduct, citizen's charter, work culture, quality of service delivery, utilization of public funds, challenges of corruption.

* Case studies on above issues.

निष्कर्ष

यदि आप UPPCS की तैयारी करने जा रहे हैं तो आपको सबसे पहले UPPCS Syllabus के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए।

इस लेख में हमनें UPPCS Syllabus in Hindi में उपलब्ध कराया है। जिसमें UPPCS Prelims Syllabus और UPPCS Mains Syllabus दोनों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई है। साथ ही UPPCS Syllabus को इंग्लिश में भी दिया गया है।

यदि आप UPPCS Syllabus को पीडीएफ़ में डाउनलोड करना चाहते हैं तो UPPCS Syllabus in Hindi pdf भी हमनें उपलब्ध कराया है।

UPPCS परीक्षा में कितने चरण होते हैं?

UPPCS परीक्षा में तीन चरण होते हैं – Prelims ( प्रारम्भिक ), Mains ( मुख्य ) और साक्षात्कार ( Interview )

UPPCS परीक्षा में कितने विषय होते हैं?

UPPCS प्रारंभिक परीक्षा में दो पेपर होते हैं – 1. सामान्य अध्ययन और 2. CSAT.
UPPCS मुख्य परीक्षा में आठ पेपर होते हैं। पहला पेपर सामान्य हिन्दी, दूसरा पेपर निबंध, तीसरे से छठवें तक सामान्य अध्ययन, सातवाँ और आठवाँ पेपर वैकल्पिक विषयों के होते हैं।

Leave a Comment

SSC CGL 2022 प्रारम्भिक परीक्षा की तैयारी कैसे करें SSC CGL Executive Assistant Salary, Job Profile और Promotion SSC CGL 2022 की तैयारी कैसे करें New Pension Scheme से बाहर निकलने की शर्तें