सरकारी नौकरी ज्ञान 

By Hindimaterials

GST टैक्स असिस्टेंट की सैलरी, जॉब प्रोफाइल और प्रमोशन के विषय में महत्वपूर्ण जानकारी

GST टैक्स असिस्टेंट बनने के लिए SSC CGL की परीक्षा उत्तीर्ण करनी पड़ती है। 

SSC CGL परीक्षा के बारे में विस्तृत जानकारी के लिए नीचे क्लिक करें।

GST में टैक्स असिस्टेंट बनने के बाद नौकरी में स्थायीकरण (Confirmation) के लिए एक Departmental परीक्षा देनी होती है। 

टैक्स असिस्टेंट डिपार्ट्मेन्टल परीक्षा

स्थायीकरण के लिए Departmental परीक्षा साल में एक बार ली जाती है, जो सामान्यतः मार्च के महीने में आयोजित की जाती है।  

स्थायीकरण  Departmental परीक्षा

CBIC में GST टैक्स असिस्टेंट का पद ग्रुप ‘C’ में आता है और यह एक Ministerial पद होता है, ना कि Executive का पद।    

पद

Basic Pay

सातवें वेतन आयोग के अनुसार नए GST टैक्स असिस्टेंट के लिए Basic Pay 25500/- रुपये होता है। इसी के अनुसार ग्रोस सैलरी की गणना होती है। 

यदि किसी GST टैक्स असिस्टेंट की पोस्टिंग X क्लास शहर में हुई है तो वर्तमान में उसकी ग्रॉस सैलरी लगभग 44133/- रुपये होती है।

ग्रॉस सैलरी 

ग्रॉस सैलरी में से कुछ जरूरी कटौती करने के बाद ही किसी सरकारी कर्मचारी को सैलरी मिलती है। जिसे नेट सैलरी कहते हैं।

नेट सैलरी 

जॉब प्रोफाइल 

GST टैक्स असिस्टेंट का काम कार्यालय के कर्मचारियों से ही संबंधित होता है। जैसे सैलरी बनाना, उनका क्लेम सेटल करना, Admin और Establishment का काम देखना आदि। 

 प्रमोशन 

GST टैक्स असिस्टेंट का प्रमोशन या तो Ministerial Cadre में या Executive Cadre में होता है। 

TA से EA के प्रमोशन की अवधि 3 -4 साल सेे बढ़ाकर 10 साल कर दी गई  है। 

Ministerial कैडर में  प्रमोशन 

Ministerial Cadre की लाइन में Executive Assistant, Administrative Officer और Chief Accounts Officer के पद पर प्रमोशन मिलता है। 

Executive कैडर में  प्रमोशन 

Executive Cadre में प्रमोशन मिलने पर एक Executive Assistant प्रोमोट होकर इन्स्पेक्टर बनता है और आगे Superintendent, Assistant Commissioner आदि।  

हमारी अन्य वेब स्टोरी देखने के लिए नीचे क्लिक करें।

अन्य महत्वपूर्ण लेखों के लिए विज़िट करें